महावीर इंटरनेशनल लांजी की पहल कैलाश एवं पूनम को मिली रोशनी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, December 5, 2020

महावीर इंटरनेशनल लांजी की पहल कैलाश एवं पूनम को मिली रोशनी


रेवांचल टाइम्स - समाज और संसार में दया और सेवा ही श्रेष्ठ धर्म है अगर अपने से दिन ही असहाय अभावग्रस्त आश्रित वृद्ध विकलांग जरूरतमंद व्यक्ति पर दया दिखाते हुए उसकी सेवा और सहायता ना की जाए तो समाज भला कैसे उन्नति करेगा सच तो यहां है सेवा ही असल में मानव जीवन का सौंदर्य और श्रंगार है सेवा ना केवल मानव जीवन की शोभा है अपितु यह भगवान की सच्ची पूजा भी है भूखे को भोजन देना प्यासे को पानी पिलाना विद्या राहियों को विद्या देना विकलांग को अंग देना अंधे को आंख देना ही सच्ची मानवता है दूसरों की सेवा में ही पुण्य मिलता है यह सही है पर इससे तू हमें भी संतोष और असीम शांति प्राप्त होती है परोपकार एक ऐसी भावना है जिससे दूसरों का तो भला होता है खुद को भी आत्मा संतोष मिलता है मानव प्रकृति भी यही है कि जब वहां इस प्रकार की किसी उचित व उत्तम दिशा में आगे बढ़ता है और इससे उसे जो उपलब्धि प्राप्त होती है उससे उसका आत्मविश्वास बढ़ता है और इसी सोच एवं विचारधारा के साथ महावीर इंटरनेशनल लांजी की चेयरमैन विशाल राउत खोंगल अपनी पूरी टीम के साथ सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय को चरितार्थ कर रहे हैं

       महावीर इंटरनेशनल लांजी के चेयरमैन विशाल राउत खोंगल ने बताया कि महावीर इंटरनेशनल लांजी की पहल पर गाजी तहसील के ग्राम थाने का निवासी लेखराज कटोरे एवं उनकी पत्नी उर्मिला करने के बच्चों के आंखों की रोशनी मिलने से खुशी जाहिर की एक नहीं अपितु दोनों बच्चे जो आंखों से देख नहीं पाते थे महावीर इंटरनेशनल की कहल पर उनके पुत्र कैलाश कटोरे 14 वर्ष और पुत्री पूनम कटोरे 16 वर्ष को रोशनी मिली महावीर इंटरनेशनल लाजी सेवा और दया के साथ सदैव जरूरतमंदों की मदद के लिए प्रतिबद्ध है


मेहनत मजदूरी कर जीवन व्यापन करता है परिवार


     वही हॉकी दोनों बच्चे बालक कैलाश एवं बालिका पूनम की पिता भीख राज कटरी मेहनत मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते हैं माता पिता के द्वारा पैसे की व्यवस्था नहीं हो पाने के कारण बहुत परेशानी हुई फिर भी लोग लोगों से सहयोग लेकर कुछ पैसे की व्यवस्था की गई परिवार परेशान रहा


देव जी नेत्रालय में हुआ सफल ऑपरेशन


जबलपुर के देव जी नेत्रालय के माध्यम से एवं अन्य हॉस्पिटल बहुत सारे टेस्ट के पश्चात इन बच्चों का टॉर्च टेस्ट किया गया ताकि इनका ऑपरेशन सफल होगा अथवा नहीं इसकी पुष्टि हो सके और टॉर्च टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के पश्चात इन दोनों बच्चों का ऑपरेशन किया गया जो सफल हुआ फिलहाल एक आंख का ऑपरेशन अभी हुआ है दूसरी आंख का ऑपरेशन कुछ दिनों के साथ होगा और दोनों आंखें इन दोनों बच्चों की स्वस्थ हो जाएगी इन बच्चों को मां की गर्भावस्था के दौरान संक्रमण की वजह से मोतियाबिंद हुआ था



रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे की रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment