बाल नाट्य कार्यशाला का हुआ भव्य उद्घाटन निदेशक आलोक चटर्जी ने की शिरकत - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, November 24, 2020

बाल नाट्य कार्यशाला का हुआ भव्य उद्घाटन निदेशक आलोक चटर्जी ने की शिरकत



रेवांचल टाईम्स - मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय भोपाल के विस्तार कार्यक्रम के अंतर्गत नाट्यगंगा छिंदवाड़ा के सहयोग से आयोजित 25 दिवसीय बाल नाट्य कार्यशाला का भव्य उद्घाटन विद्यालय के निदेशक एवं सुप्रसिद्ध रंगकर्मी आलोक चटर्जी की अध्यक्षता में हुआ। कोविड 19 के संक्रमण के कारण बहुत ही सीमित संख्या में अतिथियों की उपस्थिति में यह गरिमामय आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की विषेशता यह रही कि इस कार्यक्रम की पूरी रूपरेखा एवं इसका क्रियान्वयन नाट्यगंगा की पुरानी कार्यषशालाओं से प्रशिक्षित कलाकारों के द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन निकेतन मिश्रा एवं स्वाति चौरसिया ने किया। एवं कार्यशाला स्थल को संस्था के नए कलाकारों दानिश अली, प्रहलाद उइके, हर्ष यादव, मानसी मटकर, आदित्य रूसिया, ऋषभ शर्मा, अंकित खंडूजा, फैजल कुरैशी, अफजल खान, अमन कुमार ने बहुत ही सुंदर ढंग से सजाया। उद्घाटन सत्र में अतिथि के रूप में डॉ लक्ष्मीचंद, गोवर्धन यादव, दिनेश भट्ट, मुकेश उपाध्याय और विजय आनंद दुबे उपस्थित रहे। मप्र नाट्य विद्यालय के निदेशक आलोक चटर्जी ने दीप प्रजव्वलित कर विधिवत नाट्य कार्यशाला का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा के रंगकर्म में बहुत संभावनाएं हैं और नाट्यगंगा संस्था के कार्य का स्तर किसी महानगर की संस्थाओं से भी उपर है। कार्यक्रम के दौरान अतिथियों का स्वागत किताबों से किया गया जिसकी सभी अतिथियों ने सराहना की। यह किताबें शहर के सुप्रसिद्ध लेखक एवं नाट्यगंगा के सदस्यों रोहित रूसिया, सुवर्णा दीक्षित एवं शेफाली शर्मा की थीं। कार्यक्रम में चयनित बाल कलाकारों ने आलोक चटर्जी जी को बहुत ही ध्यान से सुना और 25 दिनों तक लगन से कार्य करने का आश्वासन दिया। नाट्यगंगा के पुराने कलाकारों विनोद प्रसाद ग्यास, पियूष जैन, अमन कुमार, अमजद खान, निकेतन मिश्रा, आदित्य रूसिया ने बहुत ही जोश से भरा जनगीत प्रस्तुत किया। कार्यशाला के निदेशक सचिन वर्मा ने कार्यशाला की रूपरेखा पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि इन पच्चीस दिनों में बालकलाकारों को अभिनय के सभी आयामों की बारीकियां सिखाई जाएंगी, एवं साथ ही एक नाटक भी तैयार किया जाएगा जिसका निर्देशन चैतन्य आठले द्वारा किया जाएगा। कार्यक्रम को सफल बनाने में श्यामसुंदर यादव ,अंबर तिवारी, नीता वर्मा, रोहित रूसिया, शेफाली शर्मा, नीरज सैनी, संजय औरंगाबादकर, वैशाली मटकर, कुलदीप वैद्य कार्यक्रम के अंत में आभार अमजद खान के द्वारा प्रदर्शित किया गया। कल दोपहर 3 से 5 बजे तक 25 दिनों तक कार्यशाला आयोजित की जायेगी।

No comments:

Post a Comment