जबलपुर: कांग्रेस नेता अमीन कुरैशी का तालिबानी फरमान, इस परिवार का सामाजिक बहिष्कार करो - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, October 17, 2020

जबलपुर: कांग्रेस नेता अमीन कुरैशी का तालिबानी फरमान, इस परिवार का सामाजिक बहिष्कार करो

 


 हुक्का पानी बंद करना यानी सामाजिक बहिष्कार करना खाप पंचायत में या अक्सर हरियाणा राजस्थान में सुना जाता था पर यह कुपर्था ना केवल इन प्रदेशों में वरन भारत के सभी परदेशों में विद्यावान है हम आपको बता दें की देश के कई प्रदेशों में सामाजिक बहिस्कार करना अपराध की श्रेणी में आता है जिसमे इस कानून के तहत अगर किसी ज़िला अधिकारी को सामाजिक बहिष्कार से जुड़े किसी काम की जानकारी मिलती है तो वह उसे आदेश देकर तुरंत रोक सकता है। क़ानून तोड़ने वाले को तीन साल की सज़ा या एक लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है, या फिर दोनों भी। क़ानून सिर्फ एक व्यक्ति ने तोड़ा हो या किसी समूह ने सज़ा एक बराबर ही दी जाएगी। सामाजिक बहिष्कार का अपराध जमानती है। जल्दी न्याय मिल सके इसके लिए यह निर्धारित किया गया है कि चार्जशीट दाखिल करने की तारीख से छह महीने की अवधि के भीतर परीक्षण पूरा करना होगा।


 ताजा मामला मध्यप्रदेश के जबलपुर से सामने आया है जहाँ पुश्तैनी जमीन के किसी विवाद को लेकर कांग्रेस नेता और  कुरैशी समाज के अध्यक्ष अमीन कुरैशी ने एक परिवार का सामाजिक बहिष्कार किया है अब वह परिवार जन सामाजिक बहिष्कार की प्रताड़ना को झेल रहे है पीड़ित परिवार का आरोप है की पुलिस इस मामले में कुछ न करते हुए चुप्पी सादे बैठी है जबकि वह लोग पुलिस के सभी आला अधिकारीयों से गुहार लगा चुके है.



No comments:

Post a Comment