जिम्मेदार की शह पर पंचायतों में चल रहा खुलेआम भ्रष्टाचार का खेल.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, October 5, 2020

जिम्मेदार की शह पर पंचायतों में चल रहा खुलेआम भ्रष्टाचार का खेल....


रेवांचल टाइम्स - वैसे तो ग्राम पंचायत स्तर पर जिले भर में भारी भ्रष्टाचार  मचा हुआ है इससे पहले भी जिले में ग्राम पंचायतों के कई मामले सामने आ चुके हैं लेकिन मामला जांच तक जाने के बाद रद्दी फाइल बंद कर अलमारियों में धूल खाती नजर आती है जिम्मेदार के द्वारा मनमानी पूर्वक जांच की जाती है और कागजो में  जांच रिपोर्ट भी बनाई जाती है जिसमें तो कुछ अधिकारियों की कलम भ्रष्टाचार करने वाले लोगों को बड़ी आसानी से बचा लेते हैं ऐसे ही कुछ मामला जनपद पंचायत डिंडोरी के ग्राम पंचायत सरहरी का सामने आया है जहां पर सरपंच सचिव और रोजगार सहायक द्वारा मस्टर रोल में फर्जी हाजिरी लगाकर राशि का आहरण कर लिया जाता है और जहां कई निर्माण कार्य आज भी अधूरे पड़े हैं और पंचायत द्वारा निर्माण कार्य को पूर्ण बता कर राशि का आहरण कर लिया जाता है और पूरी राशि का बंदरबांट हो जाता है जनपद व जिले में बैठे जिम्मेदार अधिकारियों तक मामला संज्ञान में आने के बाद भी पंचायत प्रतिनिधियों पर ठोस कार्यवाही नहीं की जाति इसी कारण से पंचायत कर्मियों के हौसले दिनों दिन बुलंद होते नजर आते हैं अगर किसी ने हौसला दिखाकर ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों की शिकायत या तो उसे भी बड़ी बुरी तरह डराया धमकाया जाता है और चंद रुपयों का लालच देकर खरीदने की कोशिश की जाती है ऐसा ही कुछ मामला हमारे ग्राम पंचायत सरहरी का सामने आया है एक युवक को पंचायत की पोल खोलने पर उसे बुरी तरह डराया और धमकाया जाता है और चंद रुपयों का लालच देकर खरीदने की भी कोशिश ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों द्वारा की जाती है और जब इस मामले में उच्च अधिकारी से बात की जाती है तो अधिकारी कहते हैं जल्द ही इस मामले को दिखाते हैं ऐसा कहकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं इसी के चलते सरपंच सचिव और रोजगार सहायक और पंचायत कर्मियों के हौसले बुलंद होते नजर आते हैं

No comments:

Post a Comment