छिंदवाड़ा: किसान उग्र आंदोलन व विशाल रैली की तैयारी में - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, September 19, 2020

छिंदवाड़ा: किसान उग्र आंदोलन व विशाल रैली की तैयारी में

 देश के अन्नदाता का फरमान विशाल किसान उग्र आंदोलन व रैली की तैयारी

 रेवांचल टाइम्स -  दिनांक 27, 28 एवं 29 अगस्त 2020 को पूरे भारत में सर्वाधिक वर्षा हमारे सिवनी जिले में हुई थी। जिससे हमारे मक्का की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई है इस कारण हमारे सामने भयंकर संकट उत्पन्न हो गया है साथ ही लोगों के मकानों को भी भारी बारिश से क्षति पहुंची है एवं भारत सरकार द्वारा  जो तीन कृषि अध्यादेश  जारी किए गए हैं  उनमें से दो अध्यादेश किसानों के लिए  एवं  एक अध्यादेश  उपभोक्ताओं के लिए भारी नुकसान दायक है  उक्त आदेशों के परिणाम स्वरूप  कृषि उत्पादों के भाव नीचे गिर गए हैं  एवं मंडी  कई महीनों से बंद पड़ी हुई है।

        उक्त समस्या को 11 सितंबर को किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर महोदय को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया एवं ज्ञापन में लिखित अपनी मांगों को 1 सप्ताह में पूर्ण करने का निवेदन भी माननीय कलेक्टर महोदय से किया गया था। 


   

   इसी क्रम में 15 सितंबर को सिवनी जिले के लगभग 50 गांव के प्रमुख किसानों की एक बैठक वैनगंगा लाइन में आयोजित की गई थी। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि यदि शासन हमारी मांगों को शीघ्र पूर्ण नहीं करता है तो किसानों के द्वारा 24 सितंबर को एक विशाल रैली एवं किसान आंदोलन आयोजित किया जाएगा। परंतु 3 सप्ताह से अधिक का समय हो गया है लगभग 1 माह पूरा होने जा रहा है शासन की ओर से किसानों को किसी प्रकार की राहत अभी तक प्रदान नहीं की गई है। इसलिए अब यह निर्णय लिया गया है कि 24 सितंबर 2020 को एक आंदोलन किया जाएगा। आंदोलन को सफल बनाने के लिए जनप्रतिनिधियों ने गांव - गांव जाकर किसानों की बैठक लेना प्रारंभ कर दिया है। जिसमें सभी किसान बंधु छिंदवाड़ा चौक से रैली निकालेंगे रैली बुधवारी बाजार होते हुए कचहरी चौक पहुंचकर सभा में तब्दील होगी सभा को उपस्थित किसानों द्वारा संबोधित करने के उपरांत माननीय कलेक्टर महोदय को अपनी मांगों का ज्ञापन किसानों की ओर से दिया जाएगा।

 हमारी प्रमुख मांगें

(1)- अतिवृष्टि से हुई फसल नुकसानी का मुआवजा ₹50000 प्रति हेक्टर के मान से दिया जाए।

(2)-  जिन किसान भाइयों ने बीमा कराया है उन्हें फसल बीमा का शत प्रतिशत लाभ दिया जाये। 

(3)- किसानों की थोड़ी बहुत जो भी फसल बच गई है उसकी खरीदी हेतु सरकार ने कोई व्यवस्था नहीं की है अतः मक्का की समर्थन मूल्य पर खरीदी हेतु पंजीयन कार्य अभिलंब प्रारंभ किया जाए। 

(4)- जय किसान कर्ज माफी योजना जो विगत वर्ष प्रारंभ की गई थी जिसके दो चरण पूर्ण हो चुके हैं शेष चरण भी किसानों के हित में पूर्ण किए जाएं। 

(5)- केंद्र सरकार द्वारा जो 3 कृषि अध्यादेश जारी किए गए हैं उनका दुश प्रभाव दिखना प्रारंभ हो चुका है जिसकी वजह से मंडिया बंद हो चुकी है और कृषि उपज के दामों में भारी गिरावट आ गई है ऐसे किसान विरोधी अध्यादेशों को सरकार तत्काल वापस ले। (6)- किसान भाइयों को खेत आने-जाने जाने में मार्गों के अभाव में भारी दिक्कत आ रही है अतः खेत सड़क योजना के अंतर्गत मार्गों का निर्माण कराया जाए। 

    किसान आंदोलन को सफल बनाने हेतु दिनांक 24 - 9- 2020 को सिवनी पहुंचकर कार्यक्रम में शामिल होने का कष्ट करें।

निवेदक (15 -9-20 की बैठक में उपस्थित किसान) -  मोहन सिंह चंदेल, घनश्याम सनोडिया, मूरत सिंह सिसोदिया, अविनाश तुम राम, चैन सिंह, अशोक बघेल पेशुराम सनोडिया, जगत नर वेदी, अमर वरकडे, इंदर लाल, सांवरलाल 15 अनिल कुमरे, शंभू सिंह कुमरे, सुरेंद्र सनोडिया, इंद्रजीत सनोडिया,  भुजबल सिंह, मनीराम अशोकपटेल, छिदामी लाल भलावी, तेज सिंह रघुवंशी, जितेंद्र सनोडिया, शिव राम वर्मा, चंदन लाल सनोदिया शेर सिंह कनोडिया रमाकांत वर्मा सहित अन्य किसान।

नोट - कोरोना वायरस के खतरे से बचने के लिए सभी किसान सोशल डिस्टेंस का पालन करें, मास्क लगाकर आएं एवं 50 बर्ष से अधिक आयु के किसान आंदोलन में ना आंए


अखिलेश बंदेवार कै साथ रेवांचल टाइम्स की एक रिपोर्ट

No comments:

Post a Comment