अवैध चिकित्सा क्लीनिक के संचालक ने पत्रकार से की बदसलूकी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Friday, September 4, 2020

अवैध चिकित्सा क्लीनिक के संचालक ने पत्रकार से की बदसलूकी




रेवांचल टाइम्स बालाघाट,, लांजी क्षेत्र के अंतर्गत चल रहे झोलाछाप डॉक्टरों का तांडव को रामानुज छिड़के लांजी क्षेत्र में अवैध रूप से झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा कितने किलनिक संचालित किए जा रहे हैं इस बारे में शायद चिकित्सा विभाग भी जागरूक नहीं है और इस लिए संभवतः करुणा संक्रमण का बहाना ज्यादा कामगार साबित हो सकता है इस सिलसिले में जब पत्रकार द्वारा लांजी में ऐसे ही एक क्लीनिक पर पहुंचकर वीडियो रिकॉर्डिंग की गई तो इस दौरान उक्त संचालक के द्वारा बदसलूकी का मामला सामने आया वही इस गोरखधंधे में लिफ्ट मेडिकल संचालक द्वारा कबूल किया गया कि उनके द्वारा उक्त क्लीनिक संचालक को भारी मात्रा में दवाइयां बेची जाती है अब देखना सेसई की पत्रकार से बदसलूकी करने वाले अवैध कारोबारी पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा एवं पुलिस क्या कार्रवाई करती है


यह है मामला


लांजी तहसील मुख्यालय अंतर्गत ग्राम नदौरा में एक व्यक्ति गणेश जच पहले द्वारा अपने भाई सावन जच मेले के साथ मिलकर अवैध रूप से दवाखाना संचालित किया जा रहा था जिसमें पहुंचने वाले मरीजों को एलोपैथिक दवाइयां दी जा रही थी इंजेक्शन लगाए जा रहे थे और ₹370 व ₹120 फीस भी वसूली जा रही थी क्या अभी बता दें कि उक्त व्यक्ति गणेश 10 पहले द्वारा स्वीकार किया गया कि उनके द्वारा किया जा रहा यह कार्य गैरकानूनी है और यह लोगों के स्वास्थ्य की साथ खिलवाड़ भी है इसके बाद गणेश तस्वीरें के भाई सावन चर्च पहले के द्वारा धक्का-मुक्की करते हुए पत्रकार रामानुज लड़के का कैमरा चेन्नई का प्रयास करती हुए बदसलूकी की गई और दबंग ताई रूप दिखाया गया इसके बाद जब पत्रकार वीडियो बंद कर रहा था तो दोनों भाइयों ने पीठ पर हाथ से मारा और अश्लील गाली गलौज करते की बात यहीं तक खत्म नहीं हुई सावन रज पहले ने तो यह धमकी तक दे काली कि मैं सजा काट चुका हूं मुझे कोई डर नहीं अपनी जान बचा लेना


अवैध काम की शिकायत आम जनता नहीं कर सकती

इस संबंध में पत्रकार रामानुज लड़के के द्वारा लांजी विकास खंड अधिकारी डॉक्टर प्रदीप  गेडाम लांजी थाना प्रभारी लांजी तहसीलदार लांजी के नाम शिकायत दे दी गई है लेकिन सबसे दुखद क्षण तब सामने आया जब शिकायत करने की बात पर एक विभाग से एक विभाग ने पत्रकार पर ही उल्टे सवाल दागने शुरू करते हुए यह कह कर डालने की कोशिश कि इतनी सुबह से ही आपकी पत्रिका पत्रकारिता शुरू हो जाती है क्या और ऐसे ही तानों की घड़ी वे बाद अंतः शिकायत ली गई जोकि चौथे स्थान पर करारा प्रहार था क्या कही हो रहे अवैध काम को बंद करवाने के लिए शिकायत एवं वीडियो सबूत पर्याप्त नहीं है क्या आम आदमी की अवैध कारोबार के शिकायत उसका बिल नहीं होती कि कानूनी शिकंजा नहीं कसा जा सकता


चित्रा मेडिकल स्टोनी मानी गलती

इस संबंध में जब चित्र मेडिकल स्टोर्स  लांजी से सच्चाई छुपाई गई तो मौके पर उपस्थित पंकज भंडारकर ने इस बात को कबूला की उसकी मेडिकल दुकान से उक्त अवैध मेडिकल क्लीनिक के संचालक गणेश जचपेले के द्वारा भारी मात्रा में दवाइयां खरीदी जाती है विशेष उल्लेखनीय है कि मुक्त मेडिकल में पूछताछ के दौरान सावन जांच पहले भी पत्रकारों का पीछा करते हुए पहुंच गया ताकि दबाव बना सके गणेश जचपेले ने माना कि वह मेडिकल स्टोर्स से 10% के कमीशन पर दवाइयां खरीदता है


यह बोले बीएमओ प्रदीप गेडाम

इस मामले में लांजी सिविल अस्पताल केबीएम प्रदीप के नाम ने कहा कि अगर ऐसा है तो आप लिखित में शिकायत दो लेकिन जब पूछा गया कि क्या मीडिया के माध्यम से आप तक यह मामला संज्ञान में लाया गया है तो आप कोई कार्रवाई नहीं करेंगे तो उन्होंने हामी भरी की कार्रवाई की जाएगी हालांकि बीएमओ के शिकायत करने की बात के  उपरांत पत्रकार रामानुज तिडके द्वारा एक लिखित शिकायत भी दे दी गई


रेवांचल टाइम्स बालाघाट से खेमराज बनाफरे

No comments:

Post a Comment