अतिथि शिक्षक 5 सितंबर को मनायेंगे काला दिवस, माँग करेंगे शीघ्र नियमितीकरण की - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, September 3, 2020

अतिथि शिक्षक 5 सितंबर को मनायेंगे काला दिवस, माँग करेंगे शीघ्र नियमितीकरण की




रेवांचल टाइम्स - मण्डला जिले के अतिथि शिक्षक आने वाले शिक्षक दिवस 5 सितंबर को काला दिवस मनाकर जेल भरो आंदोलन कर इच्छा मृत्यु की मांग सरकार से करेंगे।
इस आशय की जानकारी अतिथि शिक्षक समन्वय समिति के संस्थापक एवं मण्डला जिला अध्यक्ष पी.डी.खैरवार ने जारी विज्ञप्ति में दी है, कि समाज के सभी वर्गों से की है भारी समर्थन की अपील
          अतिथि शिक्षकों की लंबित मांग नियमितीकरण पर तेरह साल बाद भी कोई ठोस निर्णय नहीं लिये जाने और सरकारी स्कूलों को अचानक बंद किये जाने के सरकारी फरमान के विरोध में इस साल 5 सितंबर शिक्षक दिवस को सिर पर काली पट्टी बांध कर इस राष्ट्रीय स्तर के पर्व को काला दिवस के रूप में मनायेंगे।इस दिन 11 बजे कलेक्ट्रेट के पास आम सभा कर जिला मुख्यालय की मुख्य सड़कों पर रैली कर मांगों के पक्ष में जनसमर्थन मांगा जायेगा।दोपहर बाद तीन बजे वापस कलेक्ट्रेट पहुंचकर केंद्र ओर राज्य सरकार के नाम लिखे ज्ञापन कलेक्टर महोदय के हाथों सौपा जायेगा। संबोधन सभा में आगे की रणनीति पर विस्तार से चर्चा की जायेगी।
    सरकारी स्कूलों को बंद किये जाने हाल ही में जारी फरमान कर करेंगे विरोध
         संगठन के संभागीय कार्यवाहक प्रभारी अखिलेश बेंद्रे,जिला उपाध्यक्ष उदय झरिया,प्रहलाद झरिया एवं आई टी सैल से महेंद्र सोनी ने अतिथि शिक्षकों के अलावा सरकारी स्कूलों को जिंदा रखने के पक्षधर बुद्धिजीवी वर्ग  समाजसेवी, जनप्रतिनिधि, पत्रकार,अधिवक्ता,उच्च कक्षाओं के छात्र, नागरिक गण ,सभी सामाजिक,धार्मिक, राजनीतिक संगठनों से अपील की है कि लोकतंत्र का  भविष्य सुरक्षित करने और सरकारी स्कूलों को बंद किये जाने सरकार के फरमान को रोककर स्कूलों को बचाये रखने के लिए सभी अपने शुभचिंतकों सहित कलेक्ट्रेट पहुंच कर सरकार की नीतियों  के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए शिक्षक दिवस यानी 5 सितंबर को दोपहर 11:00 बजे कलेक्ट्रेट के पास अपनी जवाबदारी से  उपस्थित हों। सहभागी बनने वाले  सभी लोग मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए विरोध प्रदर्शन करेंगे।
रुद्राक्ष और उनके महत्व

No comments:

Post a Comment