बालाघाट जिले के अंतर्गत जनपद पंचायत किरनापूर के, ग्राम पंचायत सेवती के सचिव का आतंक - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, 8 July 2020

बालाघाट जिले के अंतर्गत जनपद पंचायत किरनापूर के, ग्राम पंचायत सेवती के सचिव का आतंक


बालाघाट जिले के अंतर्गत जनपद पंचायत किरणापुर के ग्राम पंचायत सेवती के सचिव एवं मेट गजानंद पिता गंनाराम पाचे के द्वारा शासन के योजनाओ का लाभ  हितग्राही को दिला तो रहे हैं किंतु पंचायत द्वारा स्वीकृति कराने के बाद अपनी दबंगता दिखाते हुए एवं राजनीतिक दबंग ता दिखाते हुए अपनी उल्लू सीधा कर रहे हैं
हितग्राही यीशु लाल पिता दागो मेश्राम जाति कलार के अनुसार मिली जानकारी के अंतर्गत ग्राम पंचायत सेवती द्वारा बताया गया है ग्राम पंचायत सेवती द्वारा मुक्त हितग्राही के नाम से मीनाक्षी तालाब योजना के तहत तालाब निर्माण कार्य हेतु 3 लाख 75 हजार रुपए स्वीकृत कराया गया था जिसमें तालाब निर्माण कार्य अधूरा कराया जाकर सचिव नागेश्वर एवं मेट गजानंद पाचे के द्वारा हितग्राही का पढ़ा लिखा ना होने के कारण मास्टर रोल पर धमकी एवं दबाव डालकर हस्ताक्षर करवाया गया है चुकीं तालाब निर्माण का कार्य अधूरा पड़ा हुआ है ना ही ड्रेसिंग का कार्य पूरा हुआ है फिर भी सचिव एवं मेट के द्वारा हितग्राही को दबाव देकर कार्य पूर्ण होने की दस्तावेज पर धमकी देकर हस्ताक्षर करवाने की कोशिश कर रहे हैं जो असंवैधानिक है विदित हो की सचिव नागेश्वर द्वारा कार्यालय समय को महत्त्व न देकर  गांव में राजनीतिक करने वाले लोगों के साथ में अधिक समय व्यतीत करता है

शासन द्वारा ग्राम पंचायत सेवती मैं शौचालय निर्माण हे तू पात्र हितग्राहियों का चयन हो चुका था और ग्राम पंचायत सेवती को शासन द्वारा ओ डी एफ किया जा चुका था किंतु ग्राम पंचायत   सेवती के सचिव द्वारा अभी तक 50% लोगों को शौचालय का लाभ नहीं दिल आया गया है
ऐसे दबंग कर्मचारी के ऊपर के द्वारा कलेक्टर बालाघाट से शिकायत करते हुई जांच की मांग किया गया है
रेवांचल टाइम्स से खेमराज बनाफरे बालाघाट की खबर

No comments:

Post a comment