कोरोना संक्रमण से बचाव एवं इलाज में आयुर्वेद विभाग निभा रहा है, अहम भूमिका - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, June 2, 2020

कोरोना संक्रमण से बचाव एवं इलाज में आयुर्वेद विभाग निभा रहा है, अहम भूमिका


अंजनियाँ... :- 02/06/2020 को विकास खण्ड बिछिया के अंतर्गत शासकीय आयुर्वेद औषधालय बोकर जिला मण्डला म.प्र.के प्रभारी राधेलाल नरेटी द्वारा मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार जीवन अमृत योजनांतर्गत त्रिकटुचूर्ण (काढ़ा) आर्सेनिक एलबम 30,अणुतेल का विरतण पुलिस थाना गाड़ासरई (डिंडौरी) एस.आई. संतोष कुमार उइके जी परिवार सहित मण्डला प्रवास के दौरान आयुर्वेद विधि चिकित्सा पद्धति का लाभ दी गई ।
           शासकीय आयुर्वेद होम्योपैथी कर्मचारी संघ मध्यप्रदेश के प्रदेश महासचिव राधेलाल नरेटी ने आज दी एक जानकारी में कोविड 19 से बचाव के उन उपायों को बताया जिसमें संक्रमण से बचा जा सकता है ।

कोरोना पाँजिटिव के इलाज में आरोग्य कशायम -20 के मिल रहें, बेहतर परिणाम
        कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आयुष विभाग विगत तीन माह से युद्ध स्तर पर कार्य कर रहा है । मार्च,अप्रैल,और मई माह में आयुष विभाग के 1847 दलों द्वारा आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक एवं यूनानी दवा तथा काढ़े का डोर-टू-डोर वितरण किया जा रहा है । इन दलों में आयुष चिकित्सक,पैरामेडिकल स्टाप, आयुष चिकित्सा छात्र शामिल हैं । मई तक प्रदेश के 1.11 करोड़ परिवारों के 2.7 लाभार्थियों को आयुष रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली औषधियों का वितरण किया जा चुका है ।
     चिकित्सा पैथियों के मान से 40 लाख परिवारों को आयुर्वेदिक दवा 67 लाख परिवारों को होम्योपैथिक दवा एवं 04 लाख परिवारों को यूनानी दवा,इस प्रकार आयुर्वेदिक दवा 1.20 करोड़, होम्योपैथिक दवा 1.35 करोड़ तथा यूनानी दवा 15.66 लाख नागरिकों को वितरित की जा चुकी हैं । आमजन को दवाई वितरण का कार्य निरन्तर जारी है ।
जीवन अमृत योजना :- जीवन अमृत योजना के तहत एक करोड़ परिवारों को त्रिकटुचूर्ण (काढ़ा) निःशुल्क वितरित किए जाने के लक्ष्य के तहत मई तक लगभग 1397 लाख त्रिकटुचूर्ण के पैकेट का वितरण किया जा चुका है । जिनका 34.92 लाख लोगों द्वारा उपयोग किया गया है । इस योजना की माँनीटरिंग विभाग द्वारा विकसित किए गए सार्थक एप के माध्यम से की जा रही हैं ।

आरोग्य कशायम - 20 से कोरोना संक्रमित का इलाज
      आयुष विभाग द्वारा एसिम्टोमेटिक मरीजों (कोरोना पाँजिटिव ऐसे मरीज जिनमें लक्षण नहीं होते) का क्वारेंटाइन के दौरान विशेषज्ञ समिति द्वारा अनुशंसित आयुर्वेदिक औषधी आरोग्य कशायम - 20 द्वारा इलाज किया गया जिसके बेहतर परिणाम प्राप्त हुए ।
       प्रदेश के कोरोना संक्रमण प्रभावित 24 जिलों (इंदौर, खरगोन, धार, बुरहानपुर, खण्डवा, उज्जैन, देवास, रतलाम, नीमच, मंदसौर,शाजापुर, भोपाल, बैतूल, विदिशा,हरदा,रायसेन,होशंगाबाद, सीहोर, ग्वालियर, जबलपुर, बालाघाट,मण्डला, सिवनी, रीवा, के 1266 मरीजों का इलाज आरोग्य कशायम - 20 से किया जा रहा है) यह प्रक्रिया निरन्तर जारी है ।

* रेवांचल टाइम्स से राकेश पटेल अंजनियॉ की खबर*

No comments:

Post a Comment