स्व-सहायता समूह से जुड़कर आत्मनिर्भर बनी हेमलता सार्वे गाँव की महिलाओं के लिए बनी आर्थिक प्रेरणा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Thursday, January 5, 2023

स्व-सहायता समूह से जुड़कर आत्मनिर्भर बनी हेमलता सार्वे गाँव की महिलाओं के लिए बनी आर्थिक प्रेरणा

मंडला 5 जनवरी 2023


            मण्डला जिले के मवई विकासखंड के ग्राम मोतीनाला की हेमलता सारर्वे म.प्र. दीनदयाल अंत्योदय योजना राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूह से जुड़कर आत्मनिर्भर हो गई है। हेमलता कहती है कि पहले परिवार की आय का मुख्य जरिया मजदूरी था, मजदूरी नहीं मिलने की स्थिति में परिवार की आर्थिक स्थिति पर बुरा प्रभाव पड़ता था। अब सिलाई का व्यवसाय करके मैं हर महिने 3500 रूपये तक की आमदनी प्राप्त कर लेती हूं। मेरे जीवन में यह संभव हुआ है मध्यप्रदेश दीनदयाल अंत्योदय योजना राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के आरती स्व-सहायता समूह से जुड़कर।

            हेमलता सार्वे बताती है कि मैं अपने गाँव में ही मुझे सिलाई कार्य शुरू करने की इच्छा थी किन्तु आर्थिक असम्पन्नता के कारण वह अधूरी लग रही थी। मुझे एवं मेरे पति म.प्र. दीनदयाल अंत्योदय योजना राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के आरती स्व-सहायता समूह से सदस्य के रूप में जुड़कर बचत जमा करने लगे। श्रीमति सार्वे कहते है कि छोटी-छोटी जरूरतों के लिए समूह से सहयोग लेती थीं। समूह द्वारा हेमलता सार्वे को सिलाई कार्य शुरू करने के लिए 20 हजार रूपये की सहयोग राशि प्रदान की। इस आर्थिक सहयोग की पहल ने हेमलता सार्वे व उसके पति शशि सार्वे का साहस बढाया। इस पैसे से सिलाई मशीन व अन्य आवश्यक सामग्री क्रय कर सिलाई कार्य शुरू किया। हेमलता आत्मनिर्भर बन गई है तथा अन्य महिलाओं के लिए भी प्रेरणास्त्रोत बन गई है।

समाचार क्रमांक/53/फोटो संलग्न

 

No comments:

Post a Comment