लोकायुक्त टीम ने निगम के टीसी और आउट सोर्स कर्मचारी को रिश्वत लेते पकड़ा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, December 30, 2022

लोकायुक्त टीम ने निगम के टीसी और आउट सोर्स कर्मचारी को रिश्वत लेते पकड़ा



लोकायुक्त टीम ग्वालियर ने नगरनिगम के क्षेत्रीय कार्यालय क्रमांक 3 लूटपुरा के कर संग्रहाक और उसके सहायक को दो हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा। दोनों कर्मचारी एक बुजुर्ग से मकान के नामांतरण के लिए दो हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। लोकायुक्त टीम ने कर संक्राहक की शर्ट से दो हजार रुपए की राशि बरामद की है। लोकायुक्त टीम मौके पर कार्रवाई कर रही है।



घटनाक्रम के मुताबिक दीनदयाल नगर निवासी भगवानदास पुत्र हीरालाल पंत उम्र 71 साल को अपने मकान का नामांतरण कराना था। इसके लिए वे नगरनिगम के क्षेत्रीय कार्यालय में अपने दस्तावेज लेकर लगातार चक्कर लगा रहे थे। लेकिन वहां के कर संग्रहाक गोपाल सक्सेना व सहायक रोहित कुमार उसके काम को नहीं कर रहे थे। जब उन्होंने नामांतरण न होने का जवाब मांगा तो दोनों कर्मचारियों ने उससे दो हजार रुपए मांगे तभी नामांतरण की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए कहा। इसके बाद भगवानदास ने लोकायुक्त टीम से संपर्क किया। लोकायुक्त टीम ने शिकायत को वेरीफाई करने के बाद शुक्रवार को भगवानदास को रुपए लेकर निगम के क्षेत्रीय कार्यालय में भेजा। भगवानदास ने तय हुए 2 हजार रुपए कर संग्रहाक गोपाल सक्सेना व सहायक रोहित कुमार को दिए। गोपालदास ने रुपए लेकर उन्हें अपनी शर्ट की जेब में रख लिया। साथ ही काम होने का भरोसा दिया। थोड़ी ही देर में पीछे से लोकायुक्त की टीम पहुंच गई। टीम ने गोपाल सक्सेना को पकड़ लिया और उसकी जेब से वे रुपए बरामद कर लिए जो भगवानदास ने उन्हें दिए थे। इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने कागजी कार्रवाई की औपचारिकता पूरी की। लोकायुक्त ने दोनों कर्मचारियाें के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि खबर लिखे जाने तक लोकायुक्त की कार्रवाई जारी थी।

No comments:

Post a Comment