संयुक्त मोर्चा के सम्मेलन में दिखी एकजुटता एसटी.एससी.ओबीसी और अल्पसंख्यक मंच में एकसाथ - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Sunday, December 18, 2022

संयुक्त मोर्चा के सम्मेलन में दिखी एकजुटता एसटी.एससी.ओबीसी और अल्पसंख्यक मंच में एकसाथ




दैनिक रेवांचल टाइम्स-  चौरई - नयी षुरूआत का  मौका जब भी बनता है तो स्थिती खुद-ब-खुद बन निर्मित्त हो जाती है। इस बात की झलक चौरई नगर में रविवार को एसटी.एससी.ओबीसी वर्ग के तत्वाधान में आयोजित सम्मेलन में स्पष्ट दिखाई दी । मुख्यालय में हुए गैर राजनैतिक दल के इस तरह के कार्यक्रम की सफलता से कयास लगाया जा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में तीसरा दल मैदान में आ सकता है। महासम्मेलन का आगाज अवंती बाई लोधी,बाबा साहब अंबेडकर,अनुसूचित जाति के ईष्ट बड़ा देव की आराधना व दीप प्रज्वलित करने क साथ हुआ। संबोधन की कडी में मुख्य अतिथि के रूप में प्रीतम लोधी पूर्व विधायक,मोनिका शाह बट्टी अध्यक्ष राष्ट्रीय गोंडवाना, ऋषि पटेल जि.प.सदस्य ,अतुल गजभिय,प्रेमकुमार पटेल,महिला नेत्री पूर्णीमा वर्मा,सम्पत पाल सहित उपस्थित जनों ने वक्तव्य दिया। इस अवसर आदिवासी समाज बहुतायात दिखाई दी इनकी ओर से पवन सरेयाम,देवराज,एकलव्य अहाके एवं अल्पसंख्यक की तरफ से मुबारिक खान,सादिक अली साथ ही ओबीसी वर्ग से श्रीकांत साहू अध्यक्ष, आषीष वर्मा,राजेन्द्र जंघेला,सचिन वर्मा,परसराम वर्मा,गुलाब चंद बडगैया ,विपिन वर्मा,कन्हैया वर्मा,मनोज वर्मा, जयकुमार वर्मा, बसंत वर्मा सहित सैंकडो युवा कार्यकर्ता शामिल रहें। 

 सांस्कृतिक कार्यक्रम रहे आकर्षण का केन्द्र 

आदिवासी समुदाय की झलक गुन्नून शाही ढोल नगरवासियों के लिए आकर्षण का केन्द्र बना,आदिवाासी कला को बिखरते हुए नृत्य और गाने ने सबको मंत्र मुग्ध कर दिया। नन्हे बच्चों ने भी शानदार प्रदर्षन किया। आयोजन समिति के ओर से इन्हे पारितोषिक दिए गए जिसके काफी सराहना की गई। 

 संविधान की राह पर मंजिल करेंगे तय 

इस कार्यक्रम में सभी वक्ताओं ने जनमानस के समक्ष सवैधानिक अधिकारों को मूल रूप से बताया। उनके मौलिक अधिकारों का किस तरह हनन किया जा रहा है। बाबा साहब अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलकर अपने अधिकारों को सुरक्षित करने को लेकर मुख्य फोकस रहा।

No comments:

Post a Comment