गौ शाला फूलसागर जानवरों को नहीं मिल रहा भोजन शुद्ध पानी... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, December 27, 2022

गौ शाला फूलसागर जानवरों को नहीं मिल रहा भोजन शुद्ध पानी...





रेवांचल टाईम्स - शासन द्वारा स्थापित गौ शाला केन्द्र बना महज दिखावा, जानवरों को भोजन पानी के पड़ रहे लाले गौ शाला के संचालन कर्ता ने कहा राशि के अभाव के कारण  ऐसी स्थिति हुई निर्मित 


समाजिक संगठनों एवं संबंधित विभाग की जानकारी होने पर भी मौन

मण्डला -जिला मुख्यालय से लगभग 15 कि.मी. दूर ग्राम पंचायत फूलसागर के ग्राम पड़रिया मे शासन द्वारा आवारा जानवरों के लिए  गौ शाला का निर्माण कराया जिसमें इन जानवरों को रखकर उन्हें भोजन पानी की अच्छी व्यवस्था की जाये, इसके लिए शासन द्वारा इस गौ शाला केन्द्र का संचालन तुलसी आजीविक स्वा सहायता समूह फूलसागर द्वारा किया जा रहा है। संचालन हेतु अतिरिक्त आवंटन भी दिया जा रहा, ताकि गौ शाला मे रह रहे जानवरों व्यवस्था (जिसमें खाना पानी आदि) संचालन कर्ता द्वारा अच्छी तरह से करा सकें। किन्तु इन जानवरों का दुर्भाग्य है इन्हें गौ शाला में भर पेट भोजन पानी नहीं मिल रहा इससे अच्छा तो पहले खुले में घूम रहे थे वह ठीक था कम से कम भर पेट नहीं तो भी आधा पेट भोजन कर ही लेते थे। किन्तु आज इन मूक पशुओं को गौ शाला में कैद होने से भर पेट भोजन पानी नसीब नहीं हो पा रहा है। 


 गौ शाला मे नही मिल रहा भरपेट भोजन जानवरों को -

फूल सागर के ग्राम पड़रिया मे संचालित गौशाला केन्द्र में जानवरों की दशा के बारे में यहीं के ग्रामीण अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यहां चौकीदार मनमर्जी का मालिक है कभी रहता  है  तो कभी दिन भर  लापता रहता है जिससे यहां रह रहे पशुओं की खाने पीने कि ठीक ढंग  व्यवस्था नहीं हो पाती अधिकांश मवेशी भूखे रहते हैं। और पीने के पानी वाली हौदी कभी साफ नहीं होती न ही पानी बदला जाता है जिससे उसमें काई और पानी बदबूदे रहा है उसी गंदे पानी को यहां की मवेशीयां पीती है।


गोलमोल जवाब देकर पल्ला झाड़ रहे जबावदार-

फूलसागर  पड़रिया स्थित गौ शाला में अव्यवस्थाओं का नजारा मौके में जाकर मीडिया ने देखा तो गौ शाला में कोई जवाबदार या चौकीदार नही मिले गौ शाला के संचालन कर्ता तुलसी आजीविक स्वा सहायता समूह तुलसी आजीविक स्वा सहायता समूह से जानकारी ली गई तो समूह  द्वारा स्पष्ट कह दिया गया की राशि के आभाव  के चलते यह अव्यवस्था बनी हुई है, अनेकों बार राशि की मांग करने पर राशि नहीं मिल रही है। इसके संचालन में हमारे लाखों रूपये में लग चुके हैं। इसके चलते गौ शाला संचालन में परेशानी जा रही है। 

    जब इस संबंध में ग्राम पंचायत से पूछा गया तो उन्होंने ने कहा की यह गौ शाला चलाने वाले समूह को गौ शाला में व्यवस्था ठीक करने को बार बार कहे जाने के बाद भी समूह द्वारा ध्यान नहीं दिया गया था। अधिक कहने में समूह का सीधा कहना है कि हमारा कई  महीनों से भुगतान नहीं मिला। राशि के आभाव में बड़ी परेशानी के साथ जानवरों के खाने पीने कि व्यवस्था कर रहे हैं ।


गौ शाला में जानवरों की जगह रखें जा रहें हैं पौधे -

गौ शाला में जहां मवेशियों को रहना चाहिए वहां पर पौधे रखें गये है ये पौधे किसने और किसकी अनुमति से रखे हैं, जिसकी जानकारी कोई नहीं दे पा रहा है।

क्या कर रहा गौ सेवा संगठन -

आज जिले में गौ सेवा संगठन अपनी इन मूक जानवरों की सेवा करने में जिले की नहीं अपितु प्रदेश तक चर्चा में है जो जिले के किसी कौने में मवेशियों के साथ कोई होनी-अनहोनी होती तो संगठन तुरंत तत्परता से वहां पहुंच कर सेवा भाव से काम करता है, साथ ही आज इस संगठन के संरक्षक जो आज प्रदेश में गौ संवर्धन बोर्ड में सदस्य बन चुके हैं। साथ ही यह संगठन सोसल मीडिया या समाचारों में हमेशा छायाए रहने वाले संगठन की इस गौ शाला में फैली अव्यवस्थाओं में नजर क्यों नहीं नजर पड़ी। क्यों नहीं यहां मूक जानवरों को भोजन पानी और सेवा में हो रही लापरवाही पर संगठन का ध्यान गया?

 गौ सेवा संगठन को यहां हो रही जानवरों के खानेपीने की व्यवस्था में लापरवाही की  आवाज प्रमुखता से उठाने की आवश्यकता है अन्यथा यह रह रहे जानवर आगे चलकर भूख प्यास से मरने लगेंगे। जरूरत शासन प्रशासन एवं सामाजिक संगठनों की ध्यान देने की?


इनका कहना है -


        मैं इसके पहले गौ शाला गया था, और वहां की स्थिति को देखते हुए जो अव्यवस्था वहां देखने को मिली जिसकी सूचना आवेदन द्वारा  कलेक्टर को दी जा चुकी है।

                            गौ पुत्र दिलीप चन्द्रौल

                                  जिला उपाध्यक्ष

                            गौ संवर्धन बोर्ड, मण्डला

No comments:

Post a Comment