ग्राम पंचायत भोङा साज के सचिव की मनमानी के चलते अपात्र हितग्राही को मिला पीएम आवास योजना का लाभ - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, November 2, 2022

ग्राम पंचायत भोङा साज के सचिव की मनमानी के चलते अपात्र हितग्राही को मिला पीएम आवास योजना का लाभ

 





दैनिक रेवांचल टाइम्स - डिंडोरी  डिंडोरी जिले की मेहंदवानी विकासखंड अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत भोङासाज के सचिव की मनमानी के चलते गांव के ग्रामीणों को योजना का लाभ नहीं देते हुए अपात्र व्यक्ति को योजना का लाभ दिया जा रहा है जो की जानकारी के मुताबिक पता चला कि अपात्र व्यक्ति खुद ही स्वयं सचिव का इकलौता पुत्र है जो सचिव के साथ खुद साथ में रहता है और तो और मजे की बात यह है कि हद तो तब हो गई जब पता चला कि ग्राम पंचायत में पदस्थ सचिव के पूरे परिवार का नाम बीपीएल कार्ड में जुड़ा हुआ है लगभग 2003 से नाम जुड़ा हुआ है और शासन की योजना का पूरी तरह से भरपूर लाभ ले रहे हैं जबकि सब जानते हैं कि बीपीएल कार्ड में किन का नाम जुड़ा होना चाहिए एक जिम्मेदार पद पर बैठे सचिव के द्वारा इस तरह का कार्य करना यह अपने आप में एक अहम सवाल है और तो और यहां महाशय सचिव का पूरा परिवार योजना का लाभ लेने से पीछे नहीं हट रहा है आखिर यहां भ्रष्ट सचिव के द्वारा जिम्मेदार पद पर बैठकर शासन की योजना का कब तक यूं ही दुरुपयोग करता रहेगा सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार चुनाव उम्मीदवारों से टैक्स लिया गया था और नल जल योजना की टेक्स राशि भी शासन के खाते में अभी तक जमा नहीं की गई है यहां सचिव द्वारा अपने काम के प्रति भारी लापरवाही बरती जाती है और शासन की राशि का भी बंदरबांट करने से भी पीछे नहीं हटा जाता यहां सचिव के द्वारा कुछ साल पहले अपने कार्य के प्रति लापरवाही बरतने एवं ग्राम पंचायत में शासन की राशि का दुरुपयोग करने के चलते इन्हें कई साल सस्पेंड भी रहना पड़ा था इसके बावजूद भी जमकर भ्रष्टाचार मचाए पड़े हैं जिस घर का मुखिया स्वयं भ्रष्टाचार की चरम सीमा लांग चुका हो वहां अपने परिवार को भ्रष्टाचार से कैसे मुक्त रख सकता है इन दिनों जनपद क्षेत्र मेहंदवानी की ग्राम पंचायतों में जमकर भ्रष्टाचार मचा हुआ है भ्रष्टाचार का आलम यह है कि अपात्र को पीएम आवास योजना का लाभ बड़ी आसानी से मिल जाता है और गरीब ग्रामीण विचारा दर-दर की ठोकरें खाते कार्यालयों के चक्कर काटता रहता है इसके बाद भी विभागीय अमला जांच करने के बदले अपने भ्रष्टाचार और काली करतूतों को दबाने का प्रयास लगातार करते रहता है आखिर भ्रष्ट सचिव पर कब होगी कार्यवाही यह तो अपने आप में एक अहम सवाल है

No comments:

Post a Comment