रेवांचल टाईम्स की खबर का हुआ असर नीद से जगा जिला प्रशासन के जिम्मेदार, अबैध चल रहे निर्माण को विभागों ने रूकवा कर भू-स्वामी को जारी किया नोटिस.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, September 7, 2022

रेवांचल टाईम्स की खबर का हुआ असर नीद से जगा जिला प्रशासन के जिम्मेदार, अबैध चल रहे निर्माण को विभागों ने रूकवा कर भू-स्वामी को जारी किया नोटिस....



रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मण्डला में नगर पालिका छेत्र का एक और कारनामा सामने आया है। जहा गत दिवस रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र ने 'चिलमन चौक में नियमों को ताक पर रखकर हो रहे अबैध तरीक़े किये जा रहे निर्माण कार्य' शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। उसके बाद नगर पालिका ने संबंधित के विरुद्ध नोटिस जारी किया, लेकिन जिला प्रशासन को गुमराह करने के उद्देश्य से जो नोटिस जारी हुआ है, वह चौकाने वाला है। नगर पालिका ने भू-स्वामी की जगह उनको नोटिस जारी कर दिया जिन्होंने उक्त भूमि का विक्रय कर दिया है। इसे


नगर पालिका की कारीस्तानी कहें य भू-स्वामी की जालसाजी जो जमीन के मालिक हैं। इनके खिलाफ तो 420 का मामला दर्ज होना चाहिए। क्योंकि इन्होंने नगर पालिका से शॉपिंग कॉम्प्लेक्स निर्माण उस नक्शे पर कराना प्रारंभ कर दिया जिसकी अनुमति पहले भू-स्वामी ने ली थी और वतर्मान में निर्माण कार्य कोई और कर रहा है। साथ ही निर्माण कर्ता के द्वारा नाले में अतिक्रमण की भी तैयारी चल रही है।

     वही निरीक्षण के दौरान पाया कि स्वीकृति के विपरीत है निर्माण पहली बार जब निरीक्षण नगर पालिका के द्वारा किया गया तो पाया कि निकाय द्वारा व्यवसायिक उक्त निर्माण भूतल, एवं द्वितीय निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है। पर मौका स्थल निरीक्षण में पाया गया कि आपके द्वारा बेसमेंट (तलघर) का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जो कि अवैध निर्माण की श्रेणी में आता है एवं नगर पालिका 1961 की धारा 187 के अंतर्गत निगम के विरुद्ध है। निर्देशित खबर प्रकाशन के बाद नगर पालिका के कर्मचारियों ने चिलमन चौक स्थित हो रहे निर्माण को आनन फानन में बंद तो करा दिया लेकिन अवैध तरीके से हुए निर्माण पर तोड़ने की कार्यवाही अभी तक नहीं की गई, जबकि भू-स्वामी ने नाले की बाउंड्री के ऊपर से अपने शॉपिंग कॉम्प्लेक्स की बाउंड्री खड़ी कर दी। एक तो बगैर नक्शा पास कराये पुराने नक्शे पर काम करने का कृत्य किया, वहीं नाले के ऊपर एक दीवार के ऊपर अपनी दीवार उठाकर अतिक्रमण करने का अपराध भी किया गया।

        वही किये जा रहे बेसमेंट (तलघर) निर्माण कार्य को तुरंत बंदकर अनुज्ञा स्वीकृति के अनुसार ही निर्माण न कार्य करना सुनिश्चित करें। अन्यथा निकाय द्वारा अधिनियम में विहित प्रधानों के अनुसार किया गया अवैध तो निर्माण हटा कर होने वाले समस्त है हरजाने की वसूली भी आपसे की के जायेगी। जिसकी सम्पूर्ण जबाबदारी स्वयं की होगी। 


इनका कहना है

    अबैध चल रहे निर्माण कार्य को रुकवा दिया है, वहीं संबंधित के विरुद्ध नोटिस जारी किया है, लेकिन आपके द्वारा यह जानकारी सामने लाई गई है कि जिसके नाम नोटिस जारी किया गया है वह अपनी जमीन किसी ओर को बेंच दिया है। जिसकी जाँच मैं कराता हूँ कि भू स्वामी कौन है। यदि पुराने नक्शे के अनुसार भू-स्वामी निर्माण कार्य करा रहा है तो यह जालसाजी है। क्योंकि जो वर्तमान में भू-स्वामी है उसे फिर से जमीन के भू दस्तावेज जमा कर नई अनुमति निर्माण कराने से पहले लेनी पड़ेगी। यदि ऐसा नहीं किया है तो इनके विरूद्ध कार्यवाही होगी।


                  गजानन नाफड़े, सीएमओ

                      नगर पालिका मण्डला


हमने जिनसे जमीन क्रय की है, उस दौरान उक्त जमीन में निर्माण कार्य प्रारंभ था और पुराने नक्शे के अनुसार नगर पालिका से मिली अनुमति में ही काम कराया जा रहा है।


दीपक जैन, भू-स्वामी

       मण्डला



मेरे द्वारा नगर में चल रहे नियम विरुद्ध कार्य को लगातार जिला प्रशासन में बैठे जिम्मेदारो को शिकायत के माध्यम से अवगत कराया चिलमन चौक स्थित हो रहे शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का निर्माण दीपक जैन द्वारा कराया जा रहा है। जो वर्तमान में उक्त भूमि के भू-स्वामी हैं, जिनके विरुद्ध मेरे द्वारा शिकायत की गई है इनके द्वारा राजस्व को करोड़ों की क्षति पहुंचाई है।  जिनके सबूत मेरे पास हैं। यदि शिकायत पर कार्रवाई | नहीं हुई तो उच्च न्यायालय की शरण लूंगा और राजस्व को पहुंचाई क्षति की भरपाई इन्ही से कराये जाने मांग करूँगा।

                      राजेन्द्र वर्मा, 

            समाज सेवी शिकायतकर्ता ।

No comments:

Post a Comment