विश्वकर्मा पूजा 2022 शुभ मुहूर्त

हर साल कन्या संक्रांति के दिन भगवान विश्वकर्मा की जाती है और इस साल यह पूजा 17 सितंबर 2022, शनिवार के दिन है. इस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 7 बजकर 36 मिनट पर शुरू होगा और रात 9 बजकर 38 मिनट तक रहेगा. विश्वकर्मा पूजा के दिन सुबह 11 बजकर 51 मिनट से लेकर 12 बजकर 40 मिनट तक अभिजित मुहूर्त रहेगा. 

विश्वकर्मा पूजन विधि

विश्वकर्मा पूजा के दिन कारखानों में मशीनों और औजारों की पूजा की जाती है. साथ ही आज के दिन अस्त्र-शस्त्र का भी पूजन होता है. मान्यता है कि ऐसा करने से मशीनें, औजार और अस्त्र-शस्त्र कभी धोखा नहीं देते और लंबे समय तक आपका साथ निभाते हैं.

इस दिन सुबह उठकर स्नान आदि कर स्वच्छ वस्त्र पहनें और अपने कारखाने, फैक्ट्री या दुकान पर जाकर वहां चैकी बिछाएं. फिर उस पीले रंग का कपड़ा बिछाएं और गंगाजल का छिड़काव कर भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति स्थापित करें. इसके बाद भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा को रोली और अक्षत लगाएं. फिर उन्हें फल व मिठाई्र का भोग लगाएं. साथ ही फूल, फूल माला, दही, सुपारी, कलाई नारियल आदि अर्पित करें. इसके बाद अस्त्र-शस्त्र, मशीनों व औजारों की पूजा करनी चाहिए.

डिस्क्लेमर: यहां दी गई सभी जानकारियां सामाजिक और धार्मिक आस्थाओं पर आधारित हैं. रेवांचल टाईम्स  इसकी पुष्टि नहीं करता. इसके लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें.