एकादशी श्राद्ध पर चीटियों को खिलाएं ये एक चीज, पूर्वजों को मिलेगी तृप्ति - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, September 21, 2022

एकादशी श्राद्ध पर चीटियों को खिलाएं ये एक चीज, पूर्वजों को मिलेगी तृप्ति

 


श्राद्ध खत्म होने में अब बस कुछ दिन बाकी हैं. वहीं आज एकादशी श्राद्ध भी है. ऐसे में यदि आप बचे हुए दिनों में अपने पूर्वजों को प्रसन्न करना चाहते हैं तो ऐसे में चींटियों की मदद से उन्हें प्रसन्न कर सकते हैं. आप चींटी को खिलाकर पूर्वजों को भी तृप्त कर सकते हैं. आज का हमारा लेख इसी विषय पर है. आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि आप किन चीजों को चींटियों को खिलाकर अपने पूर्वजों को भी तृप्त कर सकते हैं. 

चींटियों को खिलाएं ये चीजें

  1. पितृ पक्ष में ब्राह्मणों को भोजन कराने से पहले सबसे पहले कुत्ते,गाय,कौए,चींटी और देवता को भोजन कराएं, उसके बाद ब्राह्मणों को भोजन कराएं.
  2. बता दें कि पितृ पक्ष में पंचबलि कर्म करने का रिवाज है. इसका मतलब है कि पांच जीवों को भोजन कराना, यहां बलि का अर्थ भोजन कराने से है ना कि बलि देने से.
  3. इनमें एक बलि है पिपलिकादि बलि. इसमें चींटी-कीड़े-मकौड़ों को पत्तों पर खाना खिलाया जाता है. ऐसे में चींटी के बिल के आगे आहार का चूरा करके डाल सकते हैं. ऐसा करने से घर और परिवार में सुख और समृद्धि बनी रह सकती है.
  4. सूखा नारियल को यदि शक्कर से साथ मिलाकर खाया जाए तो इससे पितृदेव प्रसन्न होते है.
  5. यदि आटे में शक्कर मिलाकर चींटियों को खिलाई जाए तो इससे भी पितरों को संतुष्टि मिलती है.

No comments:

Post a Comment