लाश दफनाने की सूचना पर पहुंची पुलिस, खोदा तो निकला कुत्ते का शव - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, August 19, 2022

लाश दफनाने की सूचना पर पहुंची पुलिस, खोदा तो निकला कुत्ते का शव



जबलपुर। रांझी पुलिस को वीकल फैक्टरी क्वाटर्स में निवास करने वाले एक अफसर के बेटे ने सूचना दी कि अज्ञात 2 से 3 व्यक्ति टार्च और फावड़ा लेकर कब्र खोदने के बाद किसी की लाश दफ नाकर चले गए हैं। हत्या की आशंका और अपराध छिपाने की इस सनसनीखेज सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी रांझी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। सूचनाकताज़् द्वारा बताए गए स्थान पर पहुंची ने देखा कि ताजी कब्र खोदी गई है। पुलिस ने उक्त परिक्षेत्र को रात में सील कर दिया। सुबह संबंधित तहसीलदार की मौजूदगी में पुलिस बल कब्र के पास पहुंचा तो सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई।

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि रात करीब 11:45 पर वीकल क्वार्टर के समीप रहने वाले वेदांश कुमार ने बताया कि बंगाली दुर्गा स्टेज के पास अंधेरे में 2 से 3 युवकों ने कब्र खोदने के बाद किसी लाश अंदर रख ऊपर से मिट्टी डालकर ढंक दिया है। घोर अंधेरा होने के कारण युवकों के चेहरे दूर से दिखाई नहीं दिए। टार्च की रोशनी में कब्र खोदते और कब्र के अंदर
लाश रखते देखा है। सनसनीखेज वारदात की आशंका को देखकर सहमे युवक ने सोच विचार करने के बाद पुलिस को मामले की जानकारी दी। कब्र में दफ न लाश को निकालने के लिए नियमानुसार तहसीलदार का मौके पर होना आवश्यक है। सुबह तहसीलदार की उपस्थिति में पुलिस ने कब्र खोदी तो उसमें से सफेद रंग का बड़ा कुत्ता निकला, जिसका वजन 30 से 40 किलो के आसपास है और संभवत: वह ‘रॉटविलरÓ प्रजाति का है। कब्र से कुत्ते की लाश निकालने के बाद पुलिस ने क्षेत्र में कुत्ते के फ ोटो दिखाकर उसके पालक तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। पुलिस सहित स्थानीय लोगों का कहना है कि संपूर्ण मामले में कुछ तो गड़बड़ है। कुत्ते की साधारण मौत भी हुई होती तो उसे दिन में दफ ना दिया जाता। कुत्ते की अगर रात में मौत हुई थी, तो उसे दफनाने की इतनी जल्दबाजी क्यों दिखाई गई। कुत्ते के मालिक या अन्य चोरी छिपे रात में टार्च और फ ावड़ा लेकर आए, करीब 3 फ ीट गहरी और 4 फ ीट चौड़ा गढ्ढा खोदा गया और फिर दबे पॉव पैदल चले गए।

No comments:

Post a Comment