विभिन्न समस्याओं को लेकर छात्रा मैदान में छात्राओं में फुटा आक्रोश लड़ रहे हक की लड़ाई - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, July 21, 2022

विभिन्न समस्याओं को लेकर छात्रा मैदान में छात्राओं में फुटा आक्रोश लड़ रहे हक की लड़ाई



रेवांचल टाइम्स - बालाघाट नगर मुख्यालय से लगे ग्राम गोंगलई स्थित कन्या शिक्षा परिसर की छात्राओं के द्वारा अपनी विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रदर्शन कर रही है और जिला प्रशासन को अपनी समस्याओं से अवगत करा रही है उसे के बीच आज प्रदर्शन करते समय एक छात्रा अचानक बेहोश हो गई जिसे तत्काल उपचार के लिए जिला अस्पताल में लाकर भर्ती कराया है जहां पर उसका उपचार किया जा रहा है।

सड़क पर उतरी छात्राएं

प्राचार्य को हटाने व रसोईया को ठीक करवाने सहित मुलभूत सुविधाओं से विगत दो वर्षो से छात्राओं के द्वारा गुहार लगाई जा रही है लेकिन प्राचार्य की मनमानी के चलते छात्राओं को जानवर से भी बत्तर खाना और पानी पीना पड़ रहा है जिससे चलते छात्राओं में काफी आक्रोश देखा गया है और अपनी हक की लड़ाई के लिए छात्राओं के द्वारा सड़क पर उतरकर जिला प्रशासन को अपनी विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया है जहां आयुक्त कलेक्टर 

वही इस संबंध में जानकारी देते हुए छात्रा ईशा मरकाम के द्वारा बताया गया है कि अपनी समस्याओं को लेकर वह सभी आंदोलनरत है और आज जिला प्रशासन को अपनी समस्याओं से अवगत कराने के लिए आंदोलन किया जा रहा था तभी एक छात्रा अचानक बेहोश होकर जमीन पर गिर गई जिसे छात्राओं में हड़कंप मच गया और उसे तत्काल उपचार के लिए जिला अस्पताल में लाकर भर्ती करा दिया गया है, वही आगे जानकारी देते हुए बताया है कि छात्रावास के प्रिंसिपल को निकालने के लिए और छात्रावास की व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए सभी छात्राओं के द्वारा आंदोलन किया जा रहा है जो विगत 2 वर्षों से अपनी लड़ाई लड़ रहे हैं और उस को अंतिम रूप देने के लिए आज थाने में जाकर शिकायत करने जा रहे थे तभी रास्ते में छात्रा प्रदर्शन करते समय बेहोश हो गई।

वही मामलें में छात्रावास की करीब 2 दर्जन से अधिक छात्राओं की अचानक तबीयत खराब हो गई जिन्हें 108 एंबुलेंस की सहायता से उपचार के लिए जिला अस्पताल में लाकर भर्ती कराया है जहां पर चिकित्सकों के द्वारा उनका उपचार किया जा रहा है, वहीं उन्होंने छात्रावास प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि छात्रावास में किसी भी प्रकार की सुविधा उन्हें नहीं मिल पा रही है पीने के लिए शुद्ध पानी नहीं खाना में भी कीड़े निकलते हैं वैसा ही खाना बच्चियों को खाना पड़ता है यह समस्या करीब 2 वर्षों से बनी हुई है लेकिन अभी तक इस पर किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं हुई है जिसका परिणाम यह है कि 2 दर्जन से अधिक छात्राओं की अचानक तबीयत खराब हो गई और उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में लाना पड़ा, छात्राओं ने जिला प्रशासन से गुहार लगाई है कि छात्रावास की व्यवस्था ठीक करवाई जाए व पीने के लिए शुद्ध पेयजल खाने के लिए अच्छा भोजन की व्यवस्था करवाएं जिससे की छात्राओं का स्वास्थ्य ठीक रह सके, बुधवार की देर रात्रि जिला अस्पताल करीब 34 छात्राओं को लाया गया है जिनमें से किसी का पेट दर्द किसी का सर दर्द व अन्य बीमारी से ग्रसित है जिनका उपचार किया जा रहा है।

छात्राओं ने प्राचार्य वाय के डोंगरे पर लगाया छेड़छाड़ का आरोप

छात्राओं ने गुरूवार को महिला थाना पहुंचकर प्राचार्य वायके डोंगरे पर छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया है।  जिसके बाद पुलिस के द्वारा छात्राओं की शिकायत के आधार पर मामले में जांच की जा रही है। वहीं पूरे प्रकरण में छात्राओं का कहना है कि प्राचार्य के खिलाफ कार्यवाही कर उन्हे निलंबित किया जाना चाहिए अगर प्राचार्य पर कार्यवाही नही की जाती है तो हम सभी पीडि़त छात्राएं अपनी टीसी निकाल कर किसी और स्कूल में अपना एडमिशन करवा लेंगी। छात्राओं ने कहा कि या तो छात्रवास में प्राचार्य रहेगें या हम। 

इनका कहना है-

छात्राओं ने प्राचार्य के खिलाफ महिला थाने में छेड़छाड़ को लेकर शिकायत की है साथ हि छात्रवास की व्यवस्थाओं को लेकर भी शिकायत की है। मामले में जांच कर कार्यवाही की जायेगी।

अंजुल अयंक मिश्रा

नगर पुलिस अधिक्षक बालाघाट

No comments:

Post a Comment