सामाजिक समावेशन एवं सामाजिक न्याय के संबंध में लोक अधिकार केन्द्र एवं वनस्टॉप सेंटर की बैठक संपन्न - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, July 15, 2022

सामाजिक समावेशन एवं सामाजिक न्याय के संबंध में लोक अधिकार केन्द्र एवं वनस्टॉप सेंटर की बैठक संपन्न

 



 

मण्डला 15 जुलाई 2022

            जिला परियोजना प्रबंधक म.प्र. डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीण विकास एवं पंचायतराज विभाग के अंतर्गत संचालित एनआरएल के डी.पी.एम. बी.डी. भैसारे के मार्गदर्शन में एसआईएसडी जिला युवा सलाहकार सुधीर कुमार यादव ने समावेश, सशक्तिकरण और सामाजिक कार्रवाई की दिशा में एक कदम के रूप में एनआरएलएम के ऑन-ग्राउंड नेटवर्क के साथ अपने समन्वय की सुविधा के लिए वन स्टॉप फैसिलिटेशन सेंटर ओएससी मंडला का दौरा किया। बैठक के ये दौर बीडी भैसारे, लक्ष्मी रजक, अमृता सिंह जिला प्रमुख, ओएससी, कृति सिंघई की उपस्थिति में हुईं।

            मंडला के निवास ब्लॉक में काम कर रहे एसआरएलएम ब्लॉक टीम ने एनजीओ आनंदीकी मदद से स्थानीय महिला एसएचजी सदस्यों की मदद से लोक अधिकार केंद्रकी स्थापना की है, जो समता सखीभी हैं। यह लोक अधिकार केंद्र राज्य के लिए एक मॉडल रहा है और मध्यप्रदेश के 18 अन्य जिलों में इसकी प्रतिकृति की योजना बनाई गई है। यह केंद्र जमीनी स्तर पर ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग एवं विभिन्न विभागों की कल्याणकारी योजनाओं तक पहुंच की सुविधा प्रदान करता है। एसएचजी महिलाओं के लिए जेंडर संवेदीकरण प्रशिक्षण आयोजित करता है, कमजोर महिलाओं को चिकित्सा या कानूनी सहायता प्राप्त करने में मदद करता है, और घरेलू हिंसा के पीड़ितों के परिवारों को परामर्श देता है और पीड़ितों की हर संभव मदद करता है।

            वन-स्टॉप सेंटर के साथ लोक अधिकार केंद्र के सहयोग से उन्हें अपनी पहुंच का विस्तार करने और पीड़ितों को ओएससी के पास भेजकर उनकी मदद करने के लिए ज्ञान और साधनों से लैस करने में मदद मिलेगी। यह कदम एसआरएलएम टीम के व्यापक नेटवर्क के माध्यम से गांव स्तर पर ओएससी की पहुंच और प्रभाव को भी बढ़ाएगा।

 

आगामी माह का लक्ष्य

 

            ओएससी को लोक अधिकार केंद्र से जोड़ने के अलावा, जिला एसआरएलएम टीम ने ओएससी को सीएलएफ की सामाजिक कार्य टीम के साथ जोड़ने का भी प्रस्ताव रखा है, ताकि अन्य ब्लॉकों में भी ओएससी की पहुंच और प्रभाव को बढ़ाया जा सके। यह एक अनूठा समन्वय है जो एसआरएलएम और ओएससी के बीच स्थापित है और महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बहुत ही प्रगतिशील कदम है।

No comments:

Post a Comment