चेक पोस्ट में मची लूट अधिकारियों के द्वारा खुलेआम लिया जा रहा है रिश्वत, रिश्वत के मामले में नितिन गडकरी ने इकबाल सिंह बैस मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन को लिखा पत्र.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, July 19, 2022

चेक पोस्ट में मची लूट अधिकारियों के द्वारा खुलेआम लिया जा रहा है रिश्वत, रिश्वत के मामले में नितिन गडकरी ने इकबाल सिंह बैस मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन को लिखा पत्र....





रेवांचल टाईम्स - मध्यप्रदेश सरकार को भारत सरकार के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस एवं मध्य प्रदेश शासन के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत एवं मध्य प्रदेश शासन के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा जिसमे जे पी शर्मा महामंत्री भाजपा पूर्व नागपुर इनकी ओर से प्राप्त निवेदन अवलोकनार्थ हेतु प्रेषित किया गया है, पत्र में बताया गया है कि मध्यप्रदेश शासन राज्यों से लगे चेक पोस्ट में खुलेआम अबैध वसूली की जा रहा रही है वही आरटीओ अधिकारी एवं कर्मियों के द्वारा चेकपोस्ट एंट्री के लिए बड़े पैमाने पर हो रही रिश्वतखोरो के बारे में इस पत्र में कहां गया है विदित हो कि एंट्री चेक पोस्ट पर गाड़ी के सारे कागजात ठीक पाए जाने पर और गाड़ी अंडरलोड पाए जाने पर भी पैसों की डिमांड की जाती है पैसे न मिलने पर उन्हें सताया जाता है, वही नियम के अनुसार सभी दस्तावेजों होने पर किसी भी प्रकार की एंट्री भरने का प्रावधान नहीं है फिर भी ट्रक ड्राइवर एवं मालिकों को परेशान किया जा रहा है।

        इसके पूर्व भी मध्यप्रदेश शासन को इस विषय पर ध्यान देने की प्रार्थना की थी लेकिन इस समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया गया नहीं अभी तक कोई हल निकाला गया जिसकी वजह से मध्यप्रदेश का नाम खराब हो रहा है

       इस निवेदन पत्र द्वारा उजागर किए मुद्दों के बारे में संज्ञान लेकर संबंधित अधिकारियों को आपके द्वारा निर्देश दिए जाने की बात की है। जिससे सरकार की बदनामी न हो सकें।

No comments:

Post a Comment