कलेक्टर ने किया उकवा के सीनियर बालक छात्रावास एवं एकलव्य विद्यालय का आकस्मिक निरीक्षण - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Friday, July 22, 2022

कलेक्टर ने किया उकवा के सीनियर बालक छात्रावास एवं एकलव्य विद्यालय का आकस्मिक निरीक्षण




विद्यालय के प्राचार्य एवं माध्यमिक शिक्षक के विरूद्ध विभागीय जांच के निर्देश

रेवांचल टाइम्स -  लांजी  कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा ने आज 22 जुलाई को उकवा के सीनियर बालक छात्रावास एवं एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं को देखा। इस दौरान उन्होंने एकलव्य विद्यालय की छात्राओं से चर्चा भी की। इस दौरान बैहर एसडीएम श्री तन्मय वशिष्ट शर्मा एवं सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग श्री राहुल नायक भी उपस्थित थे।


       कलेक्टर डॉ मिश्रा सबसे पहले उकवा के सीनियर बालक छात्रावास पहुंचे और वहां की व्यवस्थाओं को देखा। छात्रावास में अधीक्षक श्री एस के कावड़े उपस्थित पाये गये। छात्रावास के सभी छात्र उकवा के स्कूल गये थे। छात्रावास में नये शिक्षण सत्र के लिए 60 बच्चों को प्रवेश दिया गया है। छात्रावास में 31 बेड लगे हुए पाये गये। छात्रावास के निरीक्षण के दौरान साफ-सफाई व्यवस्था संतोषजनक पायी गई। अधीक्षक के पास बुखार एवं सामान्य बीमारी के उपचार के लिए दवायें उपलब्ध पायी गई।  भोजन तैयार करने वाले कक्ष के निरीक्षण के दौरान वहां की साफ-सफाई ठीक पाई गई। अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि भोजन तैयार करने वाले कक्ष में खाद्य सामग्री खुली न रखें, बल्कि ढक कर रखें।


छात्रावासों में एएनएम 15 दिन में एक बार करेगी स्वास्थ्य परीक्षण


       कलेक्टर डॉ मिश्रा ने छात्रावास अधीक्षक को निर्देशित किया कि वे छात्रावास के पास उपलब्ध राशि का उपयोग छात्रावास में बल्व, पंखे, पलंग एवं अन्य सुधार कार्य के लिए करें। छात्रावास में जो कोई भी छात्र प्रवेश के लिए आता है तो उसे वापस नहीं किया जाये। जिन छात्रों के आवेदन छात्रावास में प्रवेश के लिए प्राप्त हुए थे उनके पालकों से कलेक्टर डॉ मिश्रा ने फोन कर जानकारी ली कि उनके बच्चे को प्रवेश मिला या नहीं। इस दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि वे जिले के प्रत्येक छात्रावास में रहने वाले छात्र-छात्राओं के 15 दिन में कम से कम एक बार स्वास्थ्य परीक्षण के लिए उस क्षेत्र की एएनएम की ड्यूटी लगायें। एएनएम को अपने क्षेत्र के छात्रावास में हर 15 दिन में एक बार जाकर छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण करना होगा और छात्रावास के रजिस्टर में इसकी एंट्री करना होगा।


भोजन की गुणवत्ता परखने कलेक्टर ने किया मेस में भोजन


       कलेक्टर डॉ मिश्रा उकवा के एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के निरीक्षण के लिए पहुंचे तो उस समय छात्र-छात्राओं का भोजन अवकाश हो गया था। छात्र-छात्रायें अपने अपने छात्रावास में भोजन करने गये हुए थे। कलेक्टर डॉ मिश्रा भी अधिकारियों के साथ छात्रवास की मेस में पहुंचे और वहां की व्यवस्थाओं को देखा। इस दौरान उन्होंने छात्राओं से उन्हें मिल रहे भोजन की गुणवत्ता, पानी की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। छात्राओं ने बताया कि वे भोजन की गुणवत्ता से संतुष्ट है। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने भोजन की गुणवत्ता परखने के लिए भोजन तैयार करने वाले समूह की महिलाओं से कहा कि उन्हें भी भोजन कराया जाये। इसके बाद कलेक्टर डॉ मिश्रा, एसडीएम श्री शर्मा एवं सहायक आयुक्त श्री नायक ने छात्रावास में बच्चों के लिए तैयार किया गया भोजन किया।


इस दौरान कलेक्टर डॉ मिश्रा ने छात्र-छात्राओं के लिए भोजन तैयार करने वाली स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से चर्चा कर उनकी समस्याओं को सुना। महिलाओं ने शिकायत करते हुए बताया कि विद्यालय के प्राचार्य द्वारा उनसे 10 प्रतिशत कमीशन मांगा जाता है। भोजन तैयार करने के लिए गैस सिलेंडर भी प्राचार्य द्वारा लाकर दिया जाता है। छात्रावास के पूर्व में अधीक्षक रहे माध्यमिक शिक्षक विजेन्द्र मेश्राम का व्यवहार ठीक नहीं है। उचित मूल्य दुकान से मिलने वाला खाद्यान्न भी सीधे समूह को नहीं मिलता है।


प्राचार्य एवं शिक्षक के विरूद्ध विभागीय जांच एवं शिक्षक मेश्राम को निलंबित करने के निर्देश


एकलव्य विद्यालय के निरीक्षण में पाया गया कि वहां पर 05 नियमित शिक्षक है और 14 अतिथि शिक्षक है। अतिथि शिक्षक रखने में भी आवेदकों के क्रम का ध्यान नहीं रखा गया है। विद्यालय में सोलर बिजली का सिस्टम लगा है, इसके बाद भी 14 हजार रुपये का बिल आ रहा है। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने एकलव्य विद्यालय के निरीक्षण के बाद वहां के छात्रावासों के बच्चों के भोजन संबंधी पिछले एक वर्ष के सभी रिकार्ड की जांच करने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रभारी प्राचार्य ए.के.एस. सोलंकी एवं माध्यमिक शिक्षक विजेन्द्र मेश्राम के विरूद्ध विभागीय जांच शुरू करने एवं माध्यमिक शिक्षक विजेन्द्र मेश्राम को निलंबित करने के निर्देश दिये। उन्होंने बिजली विभाग के कनिष्ठ अभियंता को मौके पर बुलाकर निर्देशित किया कि वे सोलर सिस्टम से तैयार हो रही बिजली की भी बिलिंग करें और विद्यालय को बिजली का बिल नहीं आना चाहिए। इस दौरान लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया गया वे विद्यालय की पेयजल व्यवस्था की जांच कर लें और सुनिश्चित करें कि बच्चों के लिए शुद्ध पेयजल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे।


समनापुर स्कूल में सभी पुस्तकें नहीं मिली मिली


       कलेक्टर डॉ मिश्रा ने समनापुर की प्राथमिक शाला का निरीक्षण किया तो पाया कि वहां पर बच्चों को सभी पुस्तकें नहीं मिली है। उन्होंने बीआरसी को शेष पुस्तकों का शीघ्र वितरण कराने के निर्देश दिये। एकलव्य विद्यालय रौंदाटोला बैहर के निरीक्षण के दौरान छात्रावास में सामग्री कमी होना एवं पानी की समस्या बताई गई। कलेक्टर डॉ इन समस्याओं को शीघ्र दूर करने के निर्देश दिये।

No comments:

Post a Comment