हाट रोड स्थित आम रास्ते हो रहे छोटे गली व नाली पर अतिक्रमण कर बनाई जा रही ईमारत रोड की शासकीय भूमि पर खड़ी करदी इमारत... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Sunday, July 31, 2022

हाट रोड स्थित आम रास्ते हो रहे छोटे गली व नाली पर अतिक्रमण कर बनाई जा रही ईमारत रोड की शासकीय भूमि पर खड़ी करदी इमारत...

रेवांचल टाईम्स - इन दिनों अतिक्रमण कारियो की बाढ़ आ गई है लोग रास्ते नाली पार्किग तक को नही छोड़ रहे जब मौका मिला बढ़ा ली दुकान हो गया कब्जा और जिम्मेदार इन रसूखदारों के सामने नतमस्तक है।

            वही जानकारी के अनुसार महेश्वरी हार्डवेयर के पास स्थित आम रास्ते  पर प्रवीण और संस्कार जैन कर रहे जबरन कब्जा,  रोड की शासकीय भूमि पर खड़ी करदी इमारत 

        गुना नगरपालिका क्षेत्र अंतर्गत हाट रोड स्थित महेश्वरी हार्डवेयर की दुकानों पर एक जैन परिवार द्वारा जबरन कब्जा किया जा रहा है। इसके अलावा वहां की एक गली पर अतिक्रमण करके एक बहुमंजिला ईमारत बना दी। इसके बाद भी पेट नही भरा तो दूसरी गली में कब्जा कर मकान निर्माण शुरू कर दिया है। जिससे महेश्वरी हार्डवेयर संचालक के मकान में पानी भर रहा है। उसके मकान के चारों ओर तोडफ़ोड़ करने के साथ आए दिन बैनर फाड़ दिए जाते हैं।

दरअसल मामला ये है कि महेश्वरी हार्डवेयर के मालिक रमेशचंद्र पिता गोरधनदास महेश्वरी को परेशान करने की नीयत से प्रवीण कुमार जैन और संस्कार जैन के लोग आए दिन मकान में वाहन अड़ा देते हैं तो कहीं उनके बैनर फाड़ देते हैं। उनकी माँ राजकुमारी जैन के नाम पर 50 वर्ष पूर्व कराई गई रजिस्ट्री भी फर्जी होना बताया गया है। उक्त रजिस्ट्री में 22 फिट और 26 फिट का रास्ता भी नही है। इसके बावजूद भी नगरपालिका की बनाई गईं सार्वजनिक नालियों और रास्ते को पूर्णत: रोक रखा है। जिससे आने-जाने वाले लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। मौके पर वस्तुस्थिति को देखा गया तो वहां कोई भी रास्ता नही मिला और उस रास्ते पर निर्माण कार्य किया जा रहा था। कुलमिलाकर प्रवीण जैन और संस्कार जैन ने दबंगई करते हुए चंदेल डेयरी और हार्डवेयर किनारे बनी एक गली जो आम रास्ते के रूप में उपयोग की जाती रही है उस पर अतिक्रमण पाया गया। उक्त गली से सटी हुई महेश्वरी हार्डवेयर के मकान की दीवाल लगी हुई है। दीवाल की साइड में रमेशचंद्र द्वारा दुकानों को बनाकर सभी में शटर लगा दी हैं। इसके बावजूद भी दुकानों में लगी शटर को दबाकर और गली में कब्जा कर निर्माण शुरू कर दिया। इस पूरे मामले में महेश्वरी हार्डवेयर के मालिक रमेशचंद्र का कहना है कि उन्होंने फर्जी तरीके से किसी से रजिस्ट्री कराकर शासकीय रास्ते पर भी कब्जा कर लिया है और बहुमंजिला मकान तान दिया।  उन लोगों के द्वारा इतनी आततायी मचा रखी है कि उनका जीना मुश्किल हो रहा है। उनके मकान में की दुकानों में नीचे से लेकर ऊपर तक पानी भरा हुआ है। बिल्डंग में पानी भरा होने से वह ठीक से सो भी नही पा रहे।  

नक्शा में भी स्पष्ट हैं चारों ओर रास्ते

महेश्वरी हार्डवेयर संचालक के द्वारा बताए गए पुराने दस्तावेजों और नक्शा में चारों ओर शासकीय रास्ते हैं। यह सभी दस्तावेज हार्डवेयर संचालक के पिता गोरधनदास के पक्ष में हैं। जिनका उपयोग आम रास्ते के साथ-साथ नाली गटर के रूप में उपयोग किया जाता रहा है। अब अतिक्रमणकारियों ने ऐसी चाल चली है कि कोरोनाकाल के दौरान ईमारत को तैयार करते हुए महेश्वरी परिवार पर हावी हो गए और गली और नालियों पर कब्जा कर लिया। जिनमें अवैध रूप से मकान निर्माण कार्य किया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment