ADM के विवादित बोले- वोट डालकर हमनें भ्रष्ट नेता पैदा किए - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, July 13, 2022

ADM के विवादित बोले- वोट डालकर हमनें भ्रष्ट नेता पैदा किए

 


रेवांचल टाईम्स:प्रदेश में एक और अधिक से अधिक मतदान केा लेकर प्रयास किये जा रहे हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर अन्य दलों के नेता लोगों को मतदान के लिये आह्वान कर रहे हैं. वहीं शिवपुरी के एडीएम उमेश शुक्ला वोट देने को सबसे बड़ी गलती बता रहे हैं. एडीएम का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वे कह रहे हैं कि आपने आज तक वोट डालकर क्या किया? वोट डालकर कितने भ्रष्ट नेता पैदा किये. वोट डालना और लोकतंत्र देश की सबसे बड़ी गलती है. एडीएम ने इससे पहले वोटर लिस्ट को लेकर आये लोगों से मोबाइल कैमरा बंद करने केा भी कहा। कैमरा बंद होने से आश्वस्त होकर उन्होंने वोटिंग केा लेकर दिव्य ज्ञान दे डाला.



शिवपुरी में तहसील कार्यालय में ड्यूटी पर लगे कर्मचारियेां के मतपत्र खत्म होने की शिकायत लेकर जब कुछ कर्मचारी पहुंचे तो एडीएम ने यह बात कही. कर्मचारियों का कहना था कि वे वोट नहीं डाल पायेंगे इस पर एडीएम ने यह ज्ञान दे दिया. कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा का कहना है कि सरकार केा तत्काल ऐसे अधिकारी पर कार्यवाही करना चाहिये. सलूजा का कहना है कि जब जिम्मेदार पद पर बैठे अधिकारी ही इस प्रकार की भाषा बोलेंगे तो मतदान कैसे बड़ेगा. भाजपा प्रवक्ता हितेश वाजपेयी भी एडीएम के इस बयान के खिलाफ है. वाजपेयी का कहना है कि इस प्रकार बोलना सिविल सेवा आचरण नियम के विपरीत है. वाजपेयी भी मानते हैं कि ऐसे अधिकारियों पर तत्काल कार्यवाही की जाना चाहिये.

नगरीय निकाय चुनाव में इस बार मतदान का प्रतिशत काफी कम रहा है. मतदान प्रतिशत को लेकर सरकार में चिंता है. मतदाता पर्ची ने बंटने केा लेकर भी अनेक क्षेत्रों में भाजपा और प्रशासन के लोगों में विवाद चल रहा है. ऐसे में एडीएम का यह वीडियो साफ कर रहा है कि इस बार चुनाव में मतदान को लेकर ऐसे अधिकारियों ने रूचि नहीं दिखाई.

No comments:

Post a Comment