बेशुमार धन-दौलत के मालिक बना सकते हैं कुबेर के ये मंत्र - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, June 2, 2022

बेशुमार धन-दौलत के मालिक बना सकते हैं कुबेर के ये मंत्र




रेवांचल टाईम्स:हिंदू धर्म के शास्त्रों में जिस प्रकार माता लक्ष्मी को धन की देवी मानकर उनकी पूजा की जाती है उसी प्रकार भगवान कुबेर धन के राजा कहलाते हैं जिनकी कृपा से व्यक्ति को सभी धन संबंधी सुख प्राप्त होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जिस व्यक्ति पर भगवान कुबेर की कृपा होती है उसी जीवन में कभी आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ता। कुबेर भगवान की नियमित पूजा-पाठ और मंत्र जाप को बहुत फलदायी माना गया है। आज हम आपको कुबेर भगवान के ऐसे 3 मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके जाप से व्यक्ति बेशुमार धन-दौलत का मालिक बन सकता है...


भगवान कुबेर के 3 प्रभावी मंत्र

अष्ट लक्ष्मी कुबेर मंत्र: ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कुबेराय अष्ट-लक्ष्मी मम गृहे धनं पुरय पुरय नमः॥
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर शुक्रवार की रात को जो भक्त इस मंत्र का जाप नियमित रूप से करता है उसके जीवन में माता लक्ष्मी और भगवान कुबेर की कृपा से सौभाग्य, पद-प्रतिष्ठा और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।




अमोघ मंत्र: ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये, धनधान्यसमृद्धिं मे देहि दापय स्वाहा॥
ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक यह भगवान कुबेर का सबसे प्रिय मंत्र माना गया है। मान्यता है कि सच्ची श्रद्धा से इस मंत्र का रोजाना 3 माह तक लगातार जाप करने वाले जातक को जीवन में कभी धन-धान्य की कमी नहीं होती। ध्यान रखें कि अमोघ मंत्र का जाप करते समय आपका मुख दक्षिण दिशा की तरफ होना चाहिए।

धन प्राप्ति मंत्र: ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः॥
आर्थिक समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए ज्योतिष शास्त्र में इस मंत्र का बहुत महत्व बताया गया है। जो भक्त नियमित रूप से इस मंत्र का जाप करता है उसकी आर्थिक तंगी दूर होने के साथ ही भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है।

(डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। 

रेवांचल टाईम्स इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह ले लें।)

No comments:

Post a Comment