मतदाताओं को रिझाने में जीजान से जुटे प्रत्याशी, समर्थक झोंक रहे पूरी ताकत, क्या फिर रेत माफ़ियाओ, ठेकेदारों और भ्रस्ट जनप्रतिनिधियों जनता देगी समर्थन... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, June 15, 2022

मतदाताओं को रिझाने में जीजान से जुटे प्रत्याशी, समर्थक झोंक रहे पूरी ताकत, क्या फिर रेत माफ़ियाओ, ठेकेदारों और भ्रस्ट जनप्रतिनिधियों जनता देगी समर्थन...



रेवांचल टाईम्स डेस्क - आदिवासी बाहूल्य जिला मंडला में चुनाव की सरगर्मी तेज हो चुकी है मैदान में खड़े हर प्रत्यशियों को हर वोटर अब भगवान नजर आ रहा सुबह शाम चाचा दादा चाची दादी सब रिस्ते नजर आ रहे है और सत्ता पाते ही आप कौन अपने हमारे लिए किए ही क्या है बस एक वोट तो ही दिए हो वही हर चुनाव के बाद जितने वाला अनेक जनप्रतिनिधि बस अपना और अपने परिवार के बारे में और चुनाव में किये गए खर्च को तेजी से कितने गुना बढ़े यह सोच कभी माफियाओं के साथ मिल जाता है या फिर खुद ही माफियाओं की तर्ज में काम चालू हो जाते कभी रात दिन अबैध रेत, अबैध मुरम, सरकारी भूमि में अतिक्रमण सट्टा जुआ खिलना, या फिर सरपँच सचिवों पर अपना हक जाते कर विकास कार्यों में अपनी भागीदारी निभाना जैसे पुल पुलिया बनाना भवन अन्य कार्य जिसमें भ्रष्टाचार ग़बन और फर्जी बिल लगा कर दो के चार ओर चार के आठ कर सके और इनका कौन क्या कर सकते क्योंकि इन्हें जनता ने चुना है ये हमारे जनप्रतिनिधि है पाँच साल ये हम पर राज करेगे ये विकास करेगे सबका साथ अपना विकास अब जनप्रतिनिधियों के यह नारा रह गया है।                   

           वही इस चुनाव में ऐसे अनेक सरपंच, पंच, जिला पंचायत सदस्य, और जनपदों, के लिए अनेक जनप्रतिनिधि इस चुनाव में अपनी दावेदारी बता रहे जो वर्तमान में रह कर अपने पद में रहते हुए अनेक भ्रष्टाचार ग़बन पद का दुरुपयोग किये है वह भी अब जनता से वोट माँगते नजर आ रहे है अब उनका भाग्य तो आने वाले चुनाव परिणाम ही बता पाऐगे की जनता की कितना सेवा किस किस हिसाब से की है।

          वही प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं की मेहनत कितना रंग लाएगी, यह तो चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद ही पता चल पाएगा 

         जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का मतदान होने के लिये कुछ दिन समय शेष है।ऐसे में प्रत्याशी और समर्थक मतदाताओं से अपने पक्ष में मतदान कराने के लिए रातदिन एक किए हुए हैं।सभी उम्मीदवार चुनाव को अपने पाले में करने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं। त्रिस्तरीय पंचायत का चुनाव जिले में 25 जून को पहला चरण है। मतदान में कुछ ही दिन का समय शेष रह गया है। प्रत्याशियों ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। आलम यह है कि मौसम की तल्खी और थकान की परवाह किए बगैर सुबह से लेकर देर रात तक प्रत्याशी मतदाताओं से संर्पक कर उनसे वोट की गुहार लगा रहे हैं। वह मतदाताओं से हाथ जोड़कर, उनका पैर छूकर अपने पक्ष में वोट की अपील कर रहे हैं। मतदाता भी उन्हें कामयाब बनाने का भरोसा दिला रहे हैं। इस चुनाव में कार्यकर्ता भी अपनी भूमिका बखूबी निभा रहे हैं।


        प्रत्याशियों के साथ वह मतदाताओं के दरवाजे-दरवाजे जाकर उनसे समर्थन मांग रहे हैं। कार्यकर्ता अपनी जिम्मेदारी समझते हुए प्रत्याशियों के आदेश का बखूबी पालन कर रहे हैं। प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं की मेहनत कितना रंग लाएगी, यह तो चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद ही पता चलेगा, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि चुनाव में सफलता के लिए प्रत्याशियों के साथ ही कार्यकर्ता भी परिश्रम कर रहे हैं।

No comments:

Post a Comment