आचार संहिता का कृषि विभाग के अधिकारी कर रहें है खुला उलंघन गुपचुप तरीके से सौपे जा रहें अतिरिक्त प्रभार... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, June 13, 2022

आचार संहिता का कृषि विभाग के अधिकारी कर रहें है खुला उलंघन गुपचुप तरीके से सौपे जा रहें अतिरिक्त प्रभार...


रेवांचल टाईम्स - आचार संहिता में जिला कृर्षि अधिकारी ने  एम के राय को सौपा नैनपुर का अतिरिक्त प्रभार 



      प्रदेश के मुख्यमंत्री भले लाख कह के की उनके राज में सुशासन चल रहा है मगर माननीय मुख्यमंत्री मंत्री जी के आदेश को जिले के अधिकारी कर्मचारी रत्तीभर का भी पालन नही करते है  जिसके कारण शासन में बनी व्यवस्था बिगड़ती जा रही है जिसके कारण आम जनता को योजनाओं का लाभ नही मिल पा रहा है इसी तर्ज पर मंडला जिला में कृर्षि विभाग की वरिष्ठ अधिकारी मधु अली मैडम ने आचार संहिता का खुला उलंघन कर दिया है एम के राय से साठ गांठ करते हुये राय को नैनपुर का अतिरिक्त प्रभारी बनाया गया है जबकि नैनपुर में पहले से ही एक कर्षि अधिकारी मौजूद है वही जानकर यह भी बता रहें है एम के राय के रिटायर्ड होने में कुछ समय ही बचा है इसलिये मोटी मलाई खाने के लिये आचार संहिता का खुला उलंघन जिला कृषि अधिकारी कर रहें।


क्या है मामला 


        मंडला जिले मे चुनावी अचार संहिता लग चुकी है और प्रथम चरण में नैनपुर बिछिया और मवई मे चुनाव संपन्न होने हैं जिसमें राजनीतिक दृष्टि से देखा जाए तो नैनपुर अति सवेदनशील विकासखंड मे सम्मिलित है इस संवेदनसीलता को जानते हुए भी नैनपुर विकास खंड मे कृषि विभाग मे एम के राय द्वारा मनमाने तरीके से राजनीतिक पहुंच  और पकड़ के जरिए वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी का अतिरिक्त चार्ज लिया जा रहा है जबकि अभी वर्तमान मे पदस्थ प्रभारी वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी यू एस माधवी के रिटायर होने 15 से 17 दिन बाकी हैं जबकि इनके पहले प्रभारी कृषि विकास अधिकारी का प्रभार

एम के राय के ही पास था और अपने कार्यकाल के दौरान सबसे ज्यादा परेशान व्यापारी वर्ग को किया गया एवम् इनसे अवैध वसूली भी जोरों से की गई लेकिन मनमानी कार्यवाही के डर से व्यापारी मूक बने रहे और चूंकि इनकी राजनीतिक पार्टी के कई बड़े नेताओं से बहुत अच्छे संबंध और अच्छी खासी बैठक भी होती है अतः चुनावी दोर मे ऐसे व्यक्ति का नैनपुर आना किसी भी प्रकार से नियम संगत नहीं है और बाकी विकास खण्डों में भी sado के प्रभार को ra eo के द्वारा संभाला जा रहा है तो नैनपुर मे क्यों नहीं ये सभी बाते कई प्रकार के संदेह उत्पन्न करती हैं.वही जानकारी के अनुसार भी राय के द्वारा पूर्व की पदस्थापना में चना घोटाला किया गया था जिसमें ये लगातार अखबारों की सुर्खियों बने रहें थे अब उसी तर्ज पर एक बार फिर नैनपुर में पदस्थापना होने के बाद कौन कौन से घोटाले सामने आयेंगे ये समझ से परे है।

No comments:

Post a Comment