न्यायालय परिसर में ही अधिवक्ता ने बीस वार्षिक युवती को दौड़ा दौड़ा कर पीटा, तमाशबीन बने रहे लोग सोशल मिडिया में वीडियो हो रहा है वायरल...जिम्मेदार खमोश... देखें वीडियो - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, May 7, 2022

न्यायालय परिसर में ही अधिवक्ता ने बीस वार्षिक युवती को दौड़ा दौड़ा कर पीटा, तमाशबीन बने रहे लोग सोशल मिडिया में वीडियो हो रहा है वायरल...जिम्मेदार खमोश... देखें वीडियो




रेवांचल टाईम्स - आज क़ानून व्यवस्था की क्या स्थिति है ये आज किसी से छुपी नही नही आज कोई भी कही भी सुरक्षित नही है कानून व्यवस्था दिन व दिन लचर साबित हो रही है आज गरीब अपने आप को लाचार बे सहारा नजर आ रहा है न्याय के मंदिर में ही एक पढे लिखे जिम्मेदार जब एक महिला के साथ ऐसा कृत्य खुलेआम हो रहा है तो गरीब कहा सुरक्षित है ये बड़ा सवाल है आखिरकार ऐसा क्या हुआ जो एक वरिष्ठ अधिवक्ता को महिला को सरेआम दौड़ा दौड़ाकर कर पीटने में मज़बूर होना पड़ा 

             वही सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शोसल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो राह है जो कि ब्यौहारी के न्यायालय परिसर में वरिष्ठ अधिवक्ता भगवान सिंह ने एक 20 वर्षीय युवती का वायरल वीडियो में सरेआम दौड़ा दौड़ाकर पीटता जा रहा है और दर्जन भर से ज्यादा लोग तमाशबीन बने रहे। वायरल वीडियो में साफ देख सकते है कि एक वकील उस युवती को कैसे पीट रहा है । ताज्जुब तो तब हुआ यह घटना कहीं और की नही बल्कि न्याय के मंदिर न्यायालय परिसर में हुई है। मारपीट की इस पूरी घटना को एक शख्स ने मोबाइल के कैमरे में कैद कर लिया और अब वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।



इस घिनौने अपराध पर बार एसोसिएशन कब इसका लाइसेंस  निलंबित करेगा...


       क्या ऐसी स्थिति में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू हो पाएगा... न्याय पेशे को बदनाम करने वाले ऐसे अधिवक्ताओं को हमेशा के लिए टर्मिनेट कर देना चाहिए


 अधिवक्ताओं की प्रोटेक्शन एक्ट की मांग को और उसके प्रयासों को धूमिल करने में ऐसी अधिवक्ता बहुत बड़ी नेगेविटी भूमिका निभाते हैं।

No comments:

Post a Comment