जिले में फुल्की ने मचाया कोहराम कुंभकरणी नीद से जागा जिला प्रशासन सवेदना जताने पहुँचे जनप्रतिनिधि... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, May 30, 2022

जिले में फुल्की ने मचाया कोहराम कुंभकरणी नीद से जागा जिला प्रशासन सवेदना जताने पहुँचे जनप्रतिनिधि...

 




रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला में कानून व्यवस्था तो चरमराई चुकी है न किसी को डर और न ही किसी को प्रशासन का भय नजर आ रहा है सब के सब आजाद देश के आज़ाद नागरिक है।

         वही लोगों की सेहत को लेकर सभी नागरिक सचेत हैं साथ ही सरकार भी लोगों की स्वास्थ्य की चिंता करते हुए अनेकों जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को सेहत के प्रति जागरूक किया जा रहा है। लेकिन जिले में नकली एवं अमानक खाद्य सामग्रियों के विक्रय पर लगाम नहीं लग पा रही अधिकतर ये अमानक खाद्य सामग्री ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा बेचीं जा रही है। इसके अलावा शहर में नकली एवं मिलावटी तेल धडल्ले से बिक रहे हैं और जिम्मेदार अधिकारी हाथ में हाथ धरे बैठे हुए हैं। सिर्फ त्योहारों के दौरान खाद्य सामग्री परिक्षण करने के लिए सेम्पल लेने तक की औपचारिकता पूर्ण कर कागजी कार्यवाही कर ली जाती है। 

सूत्रों की माने तो जिले में बड़ चौराहे में स्थित एक दूकान से इनका चौराहे में स्थित एक दूकान से इनका बसूली का कारोबार संचालित होता है और इसी के चलते लोगों की सेहत से खिलवाड़ करने की मौन सहमति प्रदान कर दी जाती है।



         वही जानकारी के अनुसार मंडला जिले के मोहगांव विकासखंड अंतर्गत ग्राम सिंगारपुर में शनिवार रात फूड पॉइजनिंग के कारण लगभग 150 लोगों की तबीयत बिगड़ गई। देर रात 60-70 मरीजों को एम्बुलेंस एवं अन्य वाहनों से जिला अस्पताल लाया गया एवं 20-30 लोगों को मोहगांव स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, इनमें बड़ी संख्या में बच्चे शामिल हैं। मिली जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर सिंगारपुर में शनिवार को हाट बाजार थी, जहाँ आस-पास के गांव से बड़ी संख्या में लोग रोज मर्रा की वस्तुओं की खरीदी करने पहुंचे थे। इस दौरान लोगों ने वहां कुछ ऐसी चीज खा ली जिसके कारण थोड़ी देर बाद उन्हें उल्टियां होने लगी। शुरूआत में उन्हें मोहगांव स्वास्थ्य केंद्र भर्ती कराया गया। जब संख्या बढ़ने लगी तो उन्हें जिला अस्पताल भेजा गया। 


ज्यादातर मरीजों को था हल्का इंफेक्शन

       व्यवस्थाओं का जायजा लेने अस्पताल पहुंची कलेक्टर हर्षिका सिंह ने बताया कि ग्राम सिंगारपुर से बड़ी संख्या में लोगों का स्वास्थ्य खराब होने की जानकारी आने पर मेडिकल टीम, पुलिस और प्रशासन के माध्यम से उन्हें जिला अस्पताल लाया गया। उन्होंने इसे प्राथमिक तौर पर फूड पॉइजनिंग का मामला बताया। अस्पताल में डॉक्टरों और नर्स की कमी न हो इयलिए जिले भर के ग्रामीण क्षेत्रों के डॉक्टरों की तैनाती यहां की गई है। डॉक्टरों ने ग्रामीणों की तबियत बिगड? का कारण फूड पॉइजनिंग बताया है। उनका कहना है कि ज्यादातर लोगों को हल्का इफेक्शन है, एक-दो बच्चों को गंभीर इंफेक्शन नजर आ रहा था उपचार के बाद अब उनकी स्थिति भी ठीक है।


मामला किया दर्ज ...


      मोहगांव थाना प्रभारी ने बताया कि ग्राम सिंगारपुर में हुई फूड पॉइजनिंग की घटना को संज्ञान में लेते हुए मोहगांव थाने में धारा 269, 272 भादवि के अंतर्गत अपराध क्रमांक 201/2022 दर्ज किया गया है साथ ही संदेही के पास से चाट फुल्की बनाने में उपयोग किये जाने वाली सामग्री को खाद्य विभाग ने जप्त, कर जाँच के लिए भेजा है। जांच रिपोर्ट आने पर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।


अधिकारी जनप्रतिनिधि पंहुंचे अस्पताल


घटना की जानकारी लगते ही जिला अस्पताल एवं गांव में जिला प्रशासन, पुलिस एवं चिकित्सा विभाग के आला अधिकारी पंहुच गए इस दौरान कलेक्टर हर्षिका सिंह, एडीएम मीना मसराम, एएसपी गजेंद्र सिंह कंवर सहित तमाम अधिकारी जिला चिकित्सालय पंहुच गए थे।

No comments:

Post a Comment