इश्क में लुट गए लुटेरे...लड़की के प्यार में पैर तुड़वा बैठा चंबल का डकैत....जानिए, कैसे पहुंचा सलाखों के पीछे - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, May 18, 2022

इश्क में लुट गए लुटेरे...लड़की के प्यार में पैर तुड़वा बैठा चंबल का डकैत....जानिए, कैसे पहुंचा सलाखों के पीछे

 



रेवांचल टाइम्स :चंबल का डकैत कल्ली गुर्जर सलाखों के पीछे है। पुलिस ने जब उसके क्राइम की कुंडली खंगाली, तो कई रोचक किस्से भी सामने आए। पहला- कल्ली के अपराधों की कहानी जिस घर से शुरू हुई, अंत भी उसी घर में हुआ। दूसरी- लड़की को दिल देने और दूल्हा बनने की जिद ने गैंग का सफाया करवा दिया। दरअसल, 2021 में मुरैना जिले के पहाड़गढ़ गांव के गोपाल गुर्जर से मारपीट करने पर डकैत कल्ली गुर्जर की पहचान बनी थी। 2022 अप्रैल में उसी गोपाल गुर्जर की नातिन पर बुरी नीयत ने डकैत कल्ली के करतूतों पर विराम लगा दिया। कल्ली खूंखार डकैत गुड्‌डा गुर्जर का सक्रिय सदस्य रहा है। आखिर कैसे शादी की जिद डकैत के साथ-साथ गैंग के अंत की वजह बन गई।


32 वर्षीय डकैत कल्ली गुर्जर का जन्म निरार थाना क्षेत्र के चाचुल गांव में हुआ था। कल्ली गुर्जर ने पहला बड़ा अपराध वर्ष 2021 में पहाड़गढ़ गांव में ही किया था। वह भी वृद्ध गोपाल गुर्जर के यहां। झगड़े की शुरुआत तब हुई, जब गोपाल गुर्जर ने कल्ली से वादा किया था कि वह उसकी शादी एक लड़की से करा देगा। जिस लड़की से शादी कराने का वादा किया, उसका ब्याह दूसरे के साथ हाे गया। इस पर कल्ली गुर्जर ने गोपाल गुर्जर के लड़के को बंधक बनाकर झोपड़ी में डाल दिया। उसके साथ मारपीट की थी। बंधक इसलिए बनाया, ताकि गोपाल गुर्जर पहले उसकी शादी करा दे, नहीं तो वह उसके बेटे को जाने नहीं देगा। इस पर पहाड़गढ़ थाने में उसके खिलाफ बंधक बनाने व मारपीट करने का मामला दर्ज हुआ।
डकैत कल्ली गुर्जर का पैर फ्रैक्चर हो गया।

नाबालिग पोती से शादी नहीं कराने पर चलाए 28 राउंड
26 अप्रैल 2022 की रात कल्ली गुर्जर साथी बंटी गुर्जर व जितेन्द्र गुर्जर के साथ पहुंचा। यहां गोपाल गुर्जर से कहा कि वह उसके साथ पोती की शादी कर दे, नहीं तो उसे मार डालेगा। गोपाल ने इनकार किया, तो कल्ली ने लड़की की मां रामबाई और गोपाल को लात-घूंसे और लाठियों से पीटा। रामबाई के पैर में गोली मारी, जिससे वह घायल हो गई थी। उसने 28 राउंड फायरिंग की। इसके बाद लड़की के परिवार ने थाने में कल्ली और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया।

डकैत गुड्‌डा के साथ चलाई थीं गोलियां
गुड्‌डा गुर्जर डकैत की गैंग के साथ ही कल्ली गुर्जर ने निरार क्षेत्र में ही सितंबर 2021 में फायरिंग की थी। जिस पर निरार थाना पुलिस ने उसके खिलाफ फायरिंग करने व धमकी आदि का मामला दर्ज किया था।

निरार में की थी छीना-झपटी
कल्ली गुर्जर गुड्‌डा गैंग का सक्रिय सदस्य था। उसके गैंग के साथ कल्ली ने निरार क्षेत्र में छीना-छपटी और छोटे-मोटे अपराध किए थे। जिस पर निरार थाने में वर्ष सितंबर 2022 में उसके खिलाफ मारपीट व छीना झपटी का केस दर्ज किया गया था।
जंगल में पुलिस से भागने की कोशिश में कल्ली गिर पड़ा था। इससे उसका पैर फ्रैक्चर हो गया।

सुभाषपुरा शिवपुरी में चलाई थी गोलियां
डकैत गुड्‌डा गुर्जर की गैंग के सक्रिय सदस्य रहने के दौरान वर्ष 2021 में कल्ली गुर्जर ने अवैध वसूली को लेकर सुभाषपुरा गांव में गोलियां चलाकर मारपीट की थी। 2021 में शिवपुरी के सतनबाड़ा क्षेत्र में युवक का अपहरण किया था। फायरिंग करते हुए डकैती डाली थी। मुरैना के जौरा में भी एक केस कल्ली के नाम दर्ज है।

No comments:

Post a Comment