मेहंदवानी जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत चिरपोटी एवं ग्राम पंचायत सुरजपुरा के सचिवो द्वारा उड़ाई जा रही है सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 की धज्जियां नहीं दी जा रही जानकारी भ्रष्टाचार को छुपाने में लगे है जिम्मेदार... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Saturday, May 28, 2022

मेहंदवानी जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत चिरपोटी एवं ग्राम पंचायत सुरजपुरा के सचिवो द्वारा उड़ाई जा रही है सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 की धज्जियां नहीं दी जा रही जानकारी भ्रष्टाचार को छुपाने में लगे है जिम्मेदार...



रेवांचल टाइम्स.. सरकार के द्वारा जनता और सरकार के बीच पारदर्शिता के चलते नए नए नियम और कानून लागू कर रही सरकार पर वही उनके अधिकारी कर्मचारियों के द्वारा खुलेआम मजाक बना रखे हैं सूचना के अधिकार अधिनियम का आज वही भ्रष्ट और भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए सरकार अथक प्रयास में लगी हुई है वही भ्रष्टाचार हावी होते नजर आ रहा है वहीं कुछ जिम्मेदार लोग एवं अधिकारी भ्रष्टाचार खत्म करने की सोचते हुए स्वयं भ्रष्टाचार में लिप्त होकर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं इसी तर्ज में मामला सामने आया है जनपद पंचायत मेहंदवानी अंतर्गत ग्राम पंचायत चिरपोटी एवं ग्राम पंचायत सूरजपुरा बना भ्रष्टाचार का बोलबाला हाल ही में कुछ दिनों से ग्राम पंचायत चिरपोपटी एवं ग्राम पंचायत सूरजपुरा भ्रष्टाचार को छुपाने में लगी हुई है सूचना के अधिकार के अधिनियम2005 की धड़ल्ले से धज्जियां उड़ाई जा रही है ग्राम पंचायत चिरपोटी के हौसले बुलंद और निरंतर भ्रष्टाचार जारी है जहां एक और प्रशासन के द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 6,1 के तहत बनाई गई है शासन प्रशासन और लोगों के बीच चलाई जा रही योजना को पारदर्शिता से किए जाने इसके लिए सूचना अधिकार अधिनियम बनाया गया है इसके बावजूद भी ग्राम पंचायत के सचिवो से लेकर जनपद पंचायत के अधिकारी भी सूचना के ऐअधिकार अधिनियम2005 के तहत जानकारी देने में आनाकानी करते हैं एवं नियमों का हवाला देते हुए नहीं दी जाती अब देखने वाली बात यह है कि जनपद में पदस्थ जिम्मेदार अधिकारी जो कि पंचायतों के कर्मचारी को हमेशा बचाने की चेष्टा में लगे रहते हैं आखिर कब तक पंचायत के जिम्मेदार नुमाइंदों को सूचना के अधिकार अधिनियम2005 के तहत जानकारी देने का आदेश जारी करते हैं मेहंदवानी जनपद पंचायत के अंतर्गत  अधिकतर ग्राम पंचायतों द्वारा समय सीमा में जानकारी आज तक उपलब्ध ना कराए जाने पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है जिसने मालूम पड़ता है कि ग्राम पंचायतों के साथ-साथ मेहंदवानी जनपद भी अति भ्रष्टाचारी मे शामिल है आवेदक द्वारा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत मेहंदवानी से समय सीमा में सूचना के अधिकार के तहत जानकारी उपलब्ध कराए जाने की प्रथम अपील की गई है ना जाने अब जानकारी कब तक प्राप्त होगी यहां तो अपने आप में एक अहम सवाल

No comments:

Post a Comment