लापरवाहो पर सख्त जबलपुर कलेक्टर... -लिपिक की सेवा कि समाप्त.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Thursday, April 7, 2022

लापरवाहो पर सख्त जबलपुर कलेक्टर... -लिपिक की सेवा कि समाप्त....

रेवांचल टाइम्स - लापरवाहो पर केवल सिवनी में चलती है जांच....

    दोषी पटवारी दिनेश पटले की चार साल बाद भी चल रही जांच..



जबलपुर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री ने कलेक्टर से कहा कैसा चल रहा माफिया विरोधी अभियान...

      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर प्रवास के दौरान कलेक्टर डॉक्टर इलैयाराजा टी से कहा माफिया विरोधी अभियान कैसा चल रहा है। इस अभियान के अंतर्गत आने वाले किसी भी माफिया को छोडऩा नहीं है। सीएम ने अभियान को और तेज करने की बात कही।


मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर में स्वास्थ्य विभाग के एक  संविदा लिपिक प्रवीण कुमार की सेवाएं समाप्त करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। ये आदेश जबलपुर कलेक्टर ने जारी किए। आरोपित लिपिक ने अनेक फर्मोंं के बिल पास कराने के एवज में पैसों की डिमांड की थी। लेकिन बाद में यह खबर वायरल हो गई। जिसके बाद गठित जांच दल ने आरोपों को सही पाया।

संविदा आधार पर भर्ती किए गए प्रभारी लिपिक प्रवीण  के खिलाफ सोशल मीडिया के माध्यम से शिकायत की गई थी कि उसके द्वारा अनेक फर्म संचालकों से सामग्री आपूर्ति के बाद प्रस्तुत बिल-वाउचर को पास कराने की एवज में मोटी रकम मांगी गई। इस संबंध में प्रवीण  के खिलाफ जांच के लिए एक कमेटी गठित की गई थी, जिसमें अपर कलेक्टर सहित जिला कोषालय अधिकारी शामिल रहे। इस समिति ने जांच के बाद प्रवीण  को अवैध लेन-देन का दोषी पाते हुए कलेक्टर के समक्ष अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की थी।  रिपोर्ट के आधार पर जबलपुर कलेक्टर डा. टी इलैयाराजा  ने संबंधित भ्रष्ट संविदा कर्मचारी की सेवा समाप्त करने के आदेश जारी कर दिए। 


सिवनी में चलती केवल जांच


वही सिवनी जिले में भी एक राजस्व कर्मचारी के द्वारा पद के दुरुपयोग करने के मामले में प्रमुख राजस्व आयुक्त भोपाल मध्यप्रदेश शासन से जांच के निर्देश दिए गए और निर्देश के बाद तत्कालीन अनुविभागीय अधिकारी राजस्व घंसौर रजनी वर्मा के द्वारा संबंधित राजस्व कर्मचारी की शिकायत के मामले पर विधिवत दस्तावेजों के और बयानों के आधार पर जांच की गई और जांच में संबंधित कर्मचारी दोषी पाया गया दोषी पाए जाने के बावजूद उक्त कर्मचारी पर पिछले तीन वर्षों से अधिक समय से जांच पर कार्रवाई लंबित है और पुन: उसी कर्मचारी की विभागीय जांच पिछले छह-सात महीनों से निरंतर चल रही है, जो ना जाने कब तक पूरी हो पाएगी l

सिवनी जिले के अलावा अन्य जिलों में किसी भी लापरवाह कर्मचारी पर कराई गई जांच या हो रही जांच के बाद तत्काल कार्रवाईया होती है परंतु राजस्व विभाग के पटवारी पद में पदस्थ दिनेश पटले की पद का दुरुपयोग करने संबंधी शिकायत की जांच पिछले चार सालों से केवल जांच ही चल रही है।

जनपद पंचायत धनोरा के उपाध्यक्ष जहानसिंह मर्सकोले के द्वारा वर्ष 2018 में प्रमुख राजस्व आयुक्त कार्यालय भोपाल में की गई शिकायत के बाद जांच के निर्देश आदेश दिए गए कलेक्टर कार्यालय सिवनी से भी उक्त मामले पर कार्रवाई हेतु जांच कराई गई जांच में लगभग पूरे एक साल लगाये गये और फिर जांच में दोषी पाए गए दिनेश पटले पटवारी पर कार्रवाई हेतु कलेक्टर कार्यालय को पत्र लिखा गया जहां कलेक्टर कार्यालय से पुनः अनुविभागीय अधिकारी घंसौर को पत्र लिखकर यह कहा गया कि आप स्वयं सक्षम अधिकारी हैं पटवारी पर नियमानुसार कार्यवाही करेंl परंतु जांच में दोषी पाए जाने वाले दिनेश पटले के खिलाफ प्रशासन के द्वारा तीन वर्षों से कोई कार्रवाई नहीं की गई l

केवल पिछले सात-आठ महीनों से सिवनी तहसील कार्यालय में विभागीय जांच चल रही हैl

मध्य प्रदेश के अन्य जिलों में लापरवाह कर्मचारियों की शिकायत पर जांच कराई जाती है और जांच में दोषी पाए जाने पर तत्काल कार्यवाही करने के आदेश जारी कर दिए जाते हैं परंतु सिवनी जिले में ऐसे कई मामले हैं जिनमें केवल जांच चलती हैl

       धनोरा तहसील में पदस्थ तत्कालीन पटवारी दिनेश पटले के विरुद्ध पद के दुरुपयोग मामले पर की गई शिकायत पर कराई गई जांच में पटवारी दिनेश पटले  दोषी पाए जाने के बावजूद पटवारी पर पिछले तीन- सालों से कार्रवाई नहीं की जा रही है केवल शिकायत पर जांच जांच और केवल जांच कराई जा रही है दोषी पटवारी पर कार्यवाही करने से आखिर अधिकारी परेज क्यों कर रहे हैं इसके पीछे का क्या राज है"""

No comments:

Post a Comment