सौर ऊर्जा को प्रोत्साहित कर रही प्रदेश सरकार - श्री शिवराज सिंह चौहान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, April 6, 2022

सौर ऊर्जा को प्रोत्साहित कर रही प्रदेश सरकार - श्री शिवराज सिंह चौहान

 



मुख्यमंत्री ने मंडला के यशवीर प्रकाश से किया संवाद

 

मंडला 6 अप्रैल 2022

                युवा संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों से वर्चुअली संवाद किया। इसी क्रम में उन्होंने रानी दुर्गावती शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मंडला के छात्र यशवीर प्रकाश से भी चर्चा करते हुए उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया। नगरपालिका सभाकक्ष में आयोजित इस कार्यक्रम में विधायक देवसिंह सैयाम, नगरपालिका अध्यक्ष पूर्णिमा शुक्ला, कलेक्टर हर्षिका सिंह, रानी दुर्गावती शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजेश चौरसिया सहित अन्य जनप्रतिनिधि, महाविद्यालय स्टॉफ तथा बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

                युवा संवाद कार्यक्रम के दौरान मंडला के छात्र यशवीर प्रकाश ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से नई तकनीक व ग्रीन एनर्जी के क्षेत्र में प्रदेश सरकार की योजनाओं के संबंध में प्रश्न किया। इस पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई है जो नई टेक्नोलॉजी का परीक्षण कर उस पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सौर ऊर्जा को प्रोत्साहित किया जा रहा है। एनर्जी को स्टोर करने की नई टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में हम बहुत गंभीरता से कार्य कर रहे हैं। यह पर्यावरण को बचाने में मील का पत्थर साबित होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प को भी पूरा करने की बात कही। रीवा की अंजली शर्मा के प्रश्न पर श्री शिवराज सिंह चौहान ने पालकों से आग्रह किया कि वे अपनी इच्छा और महत्वाकांक्षाएं बच्चों पर न थोपें। बच्चों की प्रतिभा को पहचान कर उसे आगे बढ़ाएं, बेटा-बेटी में फर्क न करें।

इसी प्रकार उमरिया की छात्रा कीर्ति सिंह से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं चाहता हूं मेरे बेटा-बेटियों मध्यप्रदेश के बच्चे नौकरी मांगने वाले नहीं नौकरी देने वाले बन जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था में युवाओं की क्या भागीदारी हो सकती है, इस विषय पर उज्जैन के छात्र विधान सक्सेना से संवाद करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की कृषि की विकास दर देश में सबसे ज्यादा है। इसके लिए पांच चीजें जरूरी हैं- अच्छा उत्पादन, उत्पादन की लागत कैसे घटे, ठीक दाम कैसे मिले, फसलों का विविधिकरण, यदि नुकसान हो जाए तो उसकी भरपाई कैसे करें। हमने पांचों क्षेत्रों में काम किया है। जिला संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बैतूल, छतरपुर, रीवा, बुधनी, ग्वालियर तथा इंदौर के विद्यार्थियों से भी संवाद किया।

No comments:

Post a Comment