10वीं में फेल होने से निराश था छात्र, मंदिर में किए दर्शन, फिर वहीं लगा ली फांसी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Saturday, April 30, 2022

10वीं में फेल होने से निराश था छात्र, मंदिर में किए दर्शन, फिर वहीं लगा ली फांसी




रेवांचल टाइम्स:मध्य प्रदेश बोर्ड परीक्षाओं के नतीजों के बाद पास हुए जहां छात्र-छात्राएं अपने भविष्य को लेकर प्लानिंग कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर कुछ छात्र फेल होने की वजह से अवसाद में जाकर अपनी जिंदगी ही खत्म कर ले रहे हैं। मामला भिंड ज़िले के गोहद का है। यहां परीक्षा में फेल होने से आहत एक छात्र ने मंदिर में लगे पेड़ पर फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

ख़राब रिज़ल्ट से निराश था छात्र
जानकारी के मुताबिक़ भिंड के गोहद में वार्ड क्रमांक 11 बड़े बाजार में रहने वाले एक छात्र ने हाईस्कूल के नतीजे देखने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 15 वर्षीय अंकित कटारे नाम का यह छात्र गोहद के शासकीय मॉडल स्कूल में कक्षा 10 में पढ़ाई करता था। शुक्रवार को जब एमपी बोर्ड के हाई स्कूल परीक्षा के परिणाम घोषित हुए तो अपना रिज़ल्ट देखने के बाद वह काफ़ी निराश था, वह परीक्षा परिणामों में फेल हो गया था।

हाई स्कूल रिज़ल्ट में फेल हुआ तो पेड़ पर लगा ली फांसी
मिली जानकारी के अनुसार रिज़ल्ट देखने के बाद शाम को अंकित हथियापोर मंदिर वार्ड क्रमांक 12 में पहुंचा। मंदिर में दर्शन किए और फिर मंदिर परिसर में लगे नीम के पेड़ पर फांसी के फंदे पर झूल गया। कुछ देर में उसकी मौत हो गयी। कुछ समय बाद जब पड़ोस के लोगों ने मंदिर में जाकर देखा तो छात्र अंकित फांसी पर लटकता दिखा। जिसके बाद तुरंत घरवालों को सूचना दी गयी। घरवालों ने मौके पर पहुंचकर पुलिस को सूचना देते हुए शव को पेड़ से उतरवाया और अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित किया। वहीं पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।

No comments:

Post a Comment