महिला शिक्षकों का सम्मान...ट्वेटा ने सांसद संपतिया उइके सहित सभी महिला शिक्षकों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया.. - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Wednesday, March 9, 2022

महिला शिक्षकों का सम्मान...ट्वेटा ने सांसद संपतिया उइके सहित सभी महिला शिक्षकों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया..

रेवांचल टाइम्स - मंडला पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए मुख्यमंत्री से बात करेंगे -संपतिया उइके कहा जाता है कि पृथ्वी पर ईश्वर की सबसे सुंदर रचना है इंसान और इंसानों में सबसे सुंदर रचना है स्त्री। स्त्री को प्रेम, त्याग, बलिदान, ममता, लगन, मेहनत, क्षमा, करुणा, शक्ति, सहनशक्ति, साहस और ना जाने ऐसे कितने रूपों की प्रतिमूर्ति के लिए जाना जाता है। ईश्वर की इस सबसे सुंदर रचना स्त्री के हर रूप को प्रणाम करते हुए ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन द्वारा प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है। उसी तारतम्य में इस बार भी महिला दिवस के अवसर पर राज्यसभा सांसद संपतिया उइके, पूर्व जनपद उपाध्यक्ष संतोष तिवारी, पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष पारस असरानी, बिंझिया प्राचार्य कल्पना नामदेव की गरिमामयी उपस्थिति में जिले के हर ब्लॉक से उपस्थित महिला शिक्षकों को चमचमाती स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। इसके साथ ही ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन को हर क्षेत्र में सक्रिय सहयोग प्रदान करने के लिए एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष डीके सिंगौर के नेतृत्व में सभी पदाधिकारियों द्वारा राज्यसभा सांसद संपतिया उइके को स्मृति चिन्ह भेंट कर आत्मिक सम्मान किया गया। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद ने अपने उद्बोधन में कहा कि वर्तमान सरकार महिलाओं को आगे बढ़ाने की हर संभव कोशिश कर रही है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना चलाकर बेटियों को विशेष रूप से शिक्षित करने का प्रयास हो रहा है। सरकारी नौकरी और बहुत से क्षेत्रों में महिलाओं को 50% आरक्षण देकर, स्व सहायता समूह आदि के माध्यम से उन्हें आत्मनिर्भर बना रही है। उन्होंने आगे बताया कि मंडला जिले की राजसभा सांसद महिला, कलेक्टर महिला, जिला पंचायत सीईओ महिला, जिला पंचायत अध्यक्ष महिला, नगर पालिका मंडला अध्यक्ष महिला हैं। इस प्रकार से महिलाएं प्रशासनिक एवं सार्वजनिक क्षेत्रों में पुरुषों से आगे निकल रही हैं।






एसोसिएशन के प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने बताया कि ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन द्वारा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जिलाध्यक्ष मीना साहू, रश्मि मरावी, सरिता सिंह, अंजू दुबे, संजू लता सिंगौर, सुशीला सिंगौर, सीमा चौधरी, मीनाक्षी झा, सुनीता मरावी, मधु शर्मा, प्रमिला तेकाम, प्रतिभा मरावी, हिरौंदी मरकाम, विकास लता भवेदी, दीप्ति मरावी, कल्पना नामदेव, अर्चना गुमास्ता, शकुन सोनी, माधुरी मरावी, गोमती झारिया, बताशा मसकोले, सविता कटारे, रमली उइके, रजनी तिग्गा, दुर्गेश नंदिनी कुलस्ते, राजश्री सरवटे, मानकली मलगाम, नंदनी यादव, विभा मिश्रा सहित सभी उपस्थित महिला शिक्षकों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

एसोसिएशन के प्रांत अध्यक्ष डीके सिंगौर ने दस प्रश्नों की प्रतियोगिता आयोजित की जिसमें हाँ उत्तर देने वाले को एक कदम आगे, नहीं उत्तर देने वाले को एक कदम पीछे हटना था, जिसमें महिलाएं पुरुषों से आगे रही। सर्वे में पाया गया कि महिलाएं अब पुरुष पीछे नहीं है इसी तरह जिलाध्यक्ष दिलीप मरावी के मार्गदर्शन में कुर्सी दौड़ प्रतियोगिता आयोजित की गई, जिसमें राजश्री सरवटे प्रथम, रजनी तिग्गा द्वितीय और सुशीला सिंगौर तृतीय स्थान पर रहीं। कार्यक्रम को सफल बनाने में संदीप वर्मा, अमरसिंह चंदेला, पतिराम डिबरिया, उमेश यादव, कुसुम लाल उइके, अशोक यादव, पुरुषोत्तम मरावी, सुरेन्द्र उइके, सुरेश मांडवे, प्रफुल्ल डोंगरे, संतोष बर्मन, सुनील नामदेव, भजन गवले, लोकसिंह पदम, अनिल सिंगौर, विपिन अग्रवाल, प्रकाश सिंगौर, असित लोध का सराहनीय सहयोग रहा।

No comments:

Post a Comment