सांवला रंग देखकर दुल्हन ने शादी से किया इनकार, मारे शर्म के दूल्हे ने उठाया ये खौफनाक कदम... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Tuesday, March 29, 2022

सांवला रंग देखकर दुल्हन ने शादी से किया इनकार, मारे शर्म के दूल्हे ने उठाया ये खौफनाक कदम...




रेवांचल टाइम्स:उत्तर प्रदेश में एक ऐसी घटना घटी है, जिसे सुनकर आपको भी आश्चर्य होगा कि क्या रूप-रंग इतना मायने रखता है कि उसके लिए किसी की जान पर बन आए. शादी के लिए अपने सपनों के राजकुमार का सपना देखने वाली दुल्हन के सामने जब सांवले रंग का दूल्हा आया तो उसने शादी करने से इनकार कर दिया. ये बात दूल्हे के दिल में ऐसी चुभी कि उसने शर्म के कारण जान देने तक से परहेज नहीं किया. ऐसा ही कुछ फर्रुखाबाद के कायमगंज थाना क्षेत्र में देखने को मिला, पीलिया गांव निवासी मुन्ना लाल ने अपने बेटे विनोद की शादी अजमापुर गांव मैं ललिता के साथ तय की थी. तब उन्हें क्या पता था कि बेटे के रंग के कारण शादी में इतनी बड़ी खलल पड़ जाएगी.

धूमधाम से विनोद की बारात ललिता के दरवाजे पर पहुंची. झूमते नाचते बारातियों का वधूपक्ष ने भरपूर स्वागत किया. जैसे ही बारात द्वार पूजा के लिए जय माल के लिए स्टेज पर पहुंची वैसे ही ललिता ने विनोद को देखा, विनोद को देखते ही ललिता के सपने चकनाचूर हो गए. हाथ में जय माला लेकर वह स्टेज पर पहुंची और विनोद के सांवले रंग को देखते ही उसने जयमाला डालने से इनकार कर दिया और स्टेज से मुंह फेरकर वापस चली गई.

घर के लोगों ने पूछा तो उसने बताया कि दूल्हा सांवला है, मैं इससे शादी नहीं कर सकती. काफी समझाने के बाद भी जब ललिता नहीं मानी तो दोनों पक्षों ने एक-दूसरे से बात की. जिसके बाद विनोद के पिता बिना दुल्हन लिए बारात को वापस ले जाने को राजी हो गए. इसके बाद तो गांव में लोग आपस में चर्चा करने लगे. लोगों की बातों को सुनकर विनोद को इतना बुरा लगा कि वो परेशान रहने लगा. विनोद को इतनी शर्म आई कि वह कमरे में बंद हो गया और फांसी लगा ली.

बेटे की मौत की खबर सुनते ही पिता मुन्नीलाल पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. जो पिता धूमधाम से बारात लेकर बेटे की दुल्हन की डोली लेने गया था अब अपने कंधे पर बेटे का शव लेकर चल पड़ा. इस खबर से पूरे इलाके में गहरी खामोशी छा गई. जिस घर में शादी की चहल-पहल थी वहां मातम पसर गया और चीख-पुकार मच गई. विनोद के भाई प्रवीण ने बताया की भाई की शादी तय की थी, लेकिन रंग सांवला होने की वजह से दुल्हन ने शादी करने से साफ इंकार कर दिया इसी वजह से उसके भाई ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली

No comments:

Post a Comment