म.प्र. टूरिज्म बोर्ड का पेंच राष्ट्रीय उद्यान में ‘गो हेरिटेज रन’ 13 मार्च को...... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

🙏जय माता दी🙏 शुभारंभ शुभारंभ माँ नर्मदा की कृपा और बुजुर्गों के आशीर्वाद से माँ रेवा पब्लिकेशन एन्ड प्रिंटर्स का हुआ शुभारंभ समाचार पत्रों की प्रिंटिग हेतु संपर्क करें मोबाईल न- 0761- 4112552/07415685293, 09340553112,/ 9425852299/08770497044 पता:- 68/1 लक्ष्मीपुर विवेकानंद वार्ड मुस्कान प्लाजा के पीछे एम आर 4 रोड़ उखरी जबलपुर (म.प्र.)

Tuesday, March 8, 2022

म.प्र. टूरिज्म बोर्ड का पेंच राष्ट्रीय उद्यान में ‘गो हेरिटेज रन’ 13 मार्च को......






रेवांचल टाईम्स -  वेलनेस टूरिज्म के तहत हो रहा आयोजन   5 किमी, 10 किमी और 21 किमी की होगी दौड़

08 मार्च 2022, सिवनी।  अगर आप फिटनेस फ्रीक और एडवेंचर लवर हैं, साथ ही खूबसूरत जगहों को एक्सप्लोर करना चाहते हैं, तो मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड (एमपीटीबी) के पास आपके लिए एक पूरा पैकेज है। प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नित नए नवाचारों को क्रियान्वित करने में अग्रणी मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड सिवनी स्थित पेंच राष्ट्रीय उद्यान में ‘गो हेरिटेज रन’ का आयोजन 13 मार्च 2020 को करने जा रहा है। इस गैर प्रतियोगी दौड़ में शामिल होकर पर्यटक अपनी फिटनेस के लिए दौड़ने के अलावा पेंच राष्ट्रीय उद्यान के दर्शनीय स्थलों को निहार भी सकेंगे। वेलनेस टूरिज्म के तहत आयोजित इस इवेंट में प्रतिभागियों को 5 किमी, 10 किमी और 21 किमी दौड़ में हिस्सा लेना होगा। यह रन पार्क स्थित किपलिंग कोर्ट से क्रमश: सुबह 7:00 बजे, सुबह 6:45 बजे और सुबह 6:30 बजे शुरू होगी। सभी प्रतिभागियों को एक प्रमाण पत्र, एक टी-शर्ट और एक मेडल दिया जाएगा। युवराज पडोले, डिप्टी डायरेक्टर, इवेंट्स एंड मार्केटिंग, एमपीटीबी ने कहा, “‘गो हेरिटेज रन’ सहित सभी कार्यक्रम राज्य के पर्यटन स्थलों को देश और विश्व मानचित्र पर लोकप्रिय बनाने के लिए आयोजित किए जाते हैं। आयोजन का मुख्य उद्देश्य विभिन्न पर्यटन स्थलों के संवर्धन और संरक्षण के लिए पर्यटकों और अन्य लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना भी है। यह स्थानीय रोजगार, स्थानीय परंपराओं, कला, संस्कृति और शिल्प कला को प्रोत्साहित करने में भी मदद करता है।"

 

मध्य प्रदेश के बारे में

मध्य प्रदेश उन सभी के लिए आकर्षण प्रदान करता है जो यात्रा करना पसंद करते हैं। यह 77,700 वर्ग किलोमीटर के वन क्षेत्र वाला राज्य है। 11 राष्ट्रीय उद्यानों और 24 वन्यजीव अभयारण्यों जैसे सतपुड़ा वन्यजीव अभयारण्य और चंबल घड़ियाल अभयारण्य के साथ कई वन्यजीव हॉटस्पॉट हैं। खजुराहो, भीमबेटका और सांची जैसे तीन यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल मध्य प्रदेश में मौजूद है। देश में सबसे अधिक 526 बाघों की संख्या के साथ प्रदेश को ‘टाइगर स्टेट’ का दर्जा मिला हुआ है। सतत प्रयासों के चलते प्रदेश के घने और खूबसूरत जंगलों में बाघों की दहाड़ भी लगतार बढ़ रही है। मध्य प्रदेश पर्यटन पिछले कई दशको से पर्यटकों को उच्च स्तरीय सेवाएं व सुविधायें प्रदान करते आ रहा है। “भारत का हृदय” कहे जाने वाले इस राज्य को अपने इतिहास, भौगोलिक स्थिति, प्राकृतिक सुंदरता, सांस्कृतिक विरासत और यहाँ के लोग इसे देश के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थलों में से एक बनाते हैं। उच्च पर्वत श्रेणियों, नदियों और झीलों से युक्त हरे-भरे जंगल प्रकृति के विभिन्न तत्वों के बीच एक सुंदर सामंजस्य प्रदान 

 

करते हैं। विभिन्न प्रकार के पशु-पक्षी और पौधे तथा यहाँ की प्राकृतिक सुंदरता मध्य प्रदेश के पर्यटन की विशेषता है। साथ ही साथ यहॉ का इतिहास, सांस्कृतिक धरोहर और आदिवासी संस्कृति मध्य प्रदेश के पर्यटन महत्वपूर्ण आकर्षण है।


अखिल बन्देवार के साथ रेवांचल टाईम्स की एक रिपोर्ट

1 comment: