पानी के लिए आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्काजाम - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, February 8, 2022

पानी के लिए आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्काजाम





रेवांचल टाईम्स–बादलपार ग्राम पंचायत में कई दिनों से पेयजल सप्लाई बाधितप्रशासन के आश्वासन और समझाइश के बाद माने ग्रामीण

 कुरई विकासखंड के बादलपार ग्राम पंचायत की तीतरी कॉलोनी में इन दिनों ग्रामीण पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। यहां सालों से पीने के पानी के लिए रहवासी परेशान हैं। यहां करीब 700 परिवार निवासरत हैं। कहने के लिए यहां हैंडपंप है एवं कुछ हेड पंप  पर  मोटर डालकर उपयोग किया जा रहा है    बोर की मोटर जल चुकी है , लेकिन उनमें पानी नहीं है, ऐसे में ग्रामीण खासे परेशान हैं। पेयजल संकट से आक्रोशित ग्रामीणों ने मंगलवार को चक्काजाम कर दिया। सुबह 10 बजे से शुरू हुआ चक्काजाम करीब घंटेभर चला, इसके बाद स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस प्रशासन की समझाइश के बाद ग्रामीण शांत हुए। सैंकड़ों महिलाओं व ग्रामीणों ने बादलपार के दुर्गा चौक स्थित मोहगांव व बेलपेठ रोडके चौराहा  पर खाली बर्तन लेकर विरोध जताया।

तीन साल से  ग्रामीण  पानी के लिए  बहुत परेशान होते हैं पानी नहीं मिल रहा 

आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि यहां तीन साल से पीने की पानी की समस्या बनी हुई है, लेकिन ग्राम पंचायत और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि यहां दो  हेड पंप  मैंबोरवेल और चार हैंडपंप हैं , लेकिन उनमें पानी नहीं है। बोरवेल में पानी का लेबल काफी कम है, इसके चलते इसमें लगी मोटर आए दिन जल जाती है, इसे सुधारेन का खर्चा भी स्थानीय ग्रामीण ही उठाते हैं।

दो किमी दूर से लाते हैं पानी

आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि वे गांव से करीब दो किमी दूर से पीने का पानी लेकर आते हैं, इसके चलते उन्हें बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। महिलाएं  व पुरुष अपने जरूरी कामकाज छोड़कर दो किमी दूर से पानी लेने जाते हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन से जल्द से जल्द पेयजल व्यवस्था सुचारू करने की मांग की है। इस मामले में पीएचई के अधिकारियों का कहना है कि हैंडपंप में पानी के लेबल नापने के लिए जांच दल को भेजा जाएगा और सुधार करवाया जाएगा। साथ ही बोरवेल के लिए एक नई मोटर की व्यवस्था कर दी गई है। जरुरत पडऩे पर नया बोर करवाकर पानी की व्यवस्था करवा दी जाएगी। वहीं, मौके पर चौकी प्रभारी अजय भारद्वाज दलबल के साथ पहुंचे और अधिकारियों से बात की और आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीणों ने चक्काजाम खत्म कर दिया। मौके पर घुमक्कड़ जनजाति के प्रदेश अध्यक्ष एवं उपसरपंच देवीसिंह चौहान, सरपंच रवि कटौते तथ सचिव उपस्थित रहे।


रेवांचल टाईम्स के साथ विनोद दुबे की रिपोर्ट।

No comments:

Post a Comment