तहसीलदार भावना मलगाम ने किया शासकीय खाद जप्त...सेवानिवृत्त कृषि विस्तार अधिकारी एमएम दुबे एक साल से चोरी छिपे बैच रहे थे शासकीय खाद..... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Wednesday, February 16, 2022

तहसीलदार भावना मलगाम ने किया शासकीय खाद जप्त...सेवानिवृत्त कृषि विस्तार अधिकारी एमएम दुबे एक साल से चोरी छिपे बैच रहे थे शासकीय खाद.....



रेवांचल टाईम्स -  मध्यप्रदेश शासन कृषि विभाग के माध्यम से आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में कृषि को उन्नति की ओर बढ़ाने के लिए कृषि हेतु बीज खाद किसानों के लिए सब्सिडी के माध्यम से और कुछ खाद बीज छोटे और गरीब किसानों के लिए निशुल्क वितरण हेतु भेजे जाते हैं परंतु लापरवाह और शासकीय माल की चोरी करने मैं माहिर कुछ अधिकारी कर्मचारियों की वजह से शासन की योजनाओं का लाभ निचले स्तर के किसानों तक नहीं पहुंच पाता जिसका एक छोटा सा नमूना सिवनी जिले के लखनादौन तहसील में सामने आया है जहां कृषि विभाग की एक बड़ी लापरवाही और गंभीर मामला सामने आया है जिसमें लखनादौन तहसील के धूमा में पिछले 1 वर्ष पूर्व सेवानिवृत्त हो चुके कृषि विस्तार अधिकारी एम एम दुबे सेवानिवृत्त होने के बावजूद शासकीय खाद कार्यालय में जमा कराने के बजाएं शासकीय खाद सामग्री को चोरी छुपे पिछले 1 साल से बेच रहे थे l और शासन की योजनाओं को किसानों तक लाभ नहीं पहुंचाने के साथ सबसिटी और निशुल्क वितरण की जाने वाली खाद को बेचकर अपनी जेब भरने में लगे हुए थे तहसीलदार लखनादौन को इस बात कि जैसे ही जानकारी लगी वह कार्रवाई करने हेतु लखनादौन से निकल पड़ीं परंतु सेवानिवृत्त हो चुके कृषि विस्तार अधिकारी एम एम दुबे को इस बात की भनक लग गई और उन्होंने बाजार चौक स्थित साहू अनाज भंडार की गाड़ी बुलवा कर लगभग दोपहर के दो ढाई बजे 

शासकीय खाद माल ग्राम सेवक क्वार्टर के ठीक सामने शंभू यादव के मकान से उठाकर बाजार चौक धूमावती मंदिर के ठीक बाजू में मनोज साहू के मकान में ले जाकर रख दिया ताकि राजस्व टीम को कुछ ना मिल सके और ठीक वैसा ही हुआ



         वही राजस्व विभाग के द्वारा 

मिली जानकारी के मुताबिक ठिकाने में टीम जाकर छापा मारा जहां पहले शासकीय खाद रखी हुई थी सेवानिवृत्त कृषि विस्तार अधिकारी को बुलाया गया ताला खुलवाया गया परंतु ताला खुलते ही कमरे में कुछ नहीं मिला मिलता भी कैसे क्योंकि कुछ देर पहले ही शातिर सेवानिवृत्त मदन मोहन दुबे के द्वारा शासकीय खाद शंभू यादव के घर से ले जाकर बाजार चौक स्थित मनोज साहू के घर में ले जाकर रख दिया था

परंतु कहावत है कि कानून के हाथ लंबे होते हैं और राजस्व टीम को इस बात की भी भनक लग गई 

की शासकीय खाद कहां पर रखी गई है टीम में लखनादौन तहसीलदार श्रीमती भावना मलगाम राजस्व निरीक्षक हीरालाल धुर्वे धूमा के पटवारी कृष्ण बिहारी ककोडिया कोटवार कन्हैया संजय डेहरिया की मौजूद थे जिन्हें शासकीय खाद ढूंढने में लगभग एक डेढ़ घंटे का समय जरूर लगा परंतु हकीकत से पर्दा भी उठ गया और मौके से लगभग पच्चास (50) बोरियों से अधिक शासकीय खाद बरामद कर जब्ती की कार्रवाई की गई वही मौका पंचनामा बनाकर आगे की कार्रवाई विभाग द्वारा की गईl 

        सेवानिवृत्त हो चुके एमएम दुबे पिछले एक वर्ष पूर्व सेवानिवृत्त हो चुके हैं परंतु शासकीय रूम और शासकीय खाद के मोह मे अभी भी लगे हुए हैं

        मामला गंभीर है 


        मौके से माल जप्त तो कर लिया गया है परंतु जहां से माल जप्त हुआ है उनका कहना है कि माल किसानों का है और पिछले छैः महीने पूर्व खरीदा गया है परंतु सच बात तो यह है कि यदि माल किसानों का है तो जिनके घर में जब तू आ वहां क्यों रखा हुआ है हकीकत बात यह है कि माल छैः महीने पूर्व नहीं खरीदा गया और ना ही माल किसानों का है हकीकत में माल शासकीय है जिसे 16 फरवरी 2022 को दोपहर लगभग दो 2:30 बजे सेवानिवृत्त हो चुके कृषि विस्तार अधिकारी बंगले के ठीक सामने शंभू यादव के घर से ले जाया गया है और ले जाकर बाजार चौक स्थित मकान पर रखा गया जहां से जब्ती बनाई गई है धूमा में ऐसे कई मकान है जहां पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं उन  कैमरों की छानबीन की जाए तो हकीकत सामने आ जाएगी साथ ही सांस की खाद जहां से जब हुई उसके पहले जहां पर रखी हुई थी उन घर वालों के बयान लिए जाएं तो हकीकत सामने आ जाएगी बहरहाल प्रशासनिक अधिकारी तहसीलदार लखनादौन के द्वारा जब्ती की कार्रवाई की जा चुकी है अब पुलिस व प्रशासन के द्वारा क्या कार्रवाई होती है देखना होगा l

रेवांचल टाईम्स से अखिलेश बन्देवार की रिपोर्ट...

No comments:

Post a Comment