पाना चाहते हैं धन ही धन तो शुक्रवार को करें इन मन्त्रों का जाप - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Friday, January 7, 2022

पाना चाहते हैं धन ही धन तो शुक्रवार को करें इन मन्त्रों का जाप



शुक्रवार का दिन माँ संतोषी के साथ ही माँ लक्ष्मी का भी होता है। ऐसे में इस दिन माँ लक्ष्मी का पूजन करने से कई बिगड़े काम बन जाते हैं और इसी के साथ धन से जुडी मन्नत पूरी होती है। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ मंत्र जिनके जाप से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है। आइए जानते हैं।

1-मां लक्ष्मी का बीज मंत्र- कहा जाता है मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने के लिए उनके बीज मंत्र का जाप कमल गट्टे की माला से करना चाहिए।

ऊँ श्रींह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मी नम:।।

2- श्री लक्ष्मी महामंत्र- मां लक्ष्मी का यह मंत्र धन, ऐशवर्य, सौभाग्य और यश प्रदान करने वाला है। कहा जाता है इस मंत्र का शुक्रवार के दिन 108 बार तिल के तेल की दिया जला कर जाप करना चाहिए।

ऊँ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।

3- धन संबंधी समस्या दूर करने का मंत्र- मां लक्ष्मी को धन की देवी माना जाता है। ऐसे में अगर आप कर्ज या धन संबधी समस्या से परेशान हैं तो मां लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।
ऊँ ह्रीं श्री क्रीं क्लीं श्री लक्ष्मी मम गृहे धन पूरये, धन पूरये, चिंताएं दूरये-दूरये स्वाहा:। ।



4- सुख-समृद्ध के लिए मंत्र- कहा जाता है मां लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करने और शुक्रवार के दिन इत्र और सुगंधित पदार्थ अर्पित करने से आपके घर में सुख-समृद्धि का आगमन होता है।

या रक्ताम्बुजवासिनी विलासिनी चण्डांशु तेजस्विनी।

या रक्ता रुधिराम्बरा हरिसखी या श्री मनोल्हादिनी॥

या रत्नाकरमन्थनात्प्रगटिता विष्णोस्वया गेहिनी।

सा मां पातु मनोरमा भगवती लक्ष्मीश्च पद्मावती ॥

5- सर्व मनोकामना पूर्ति मंत्र- मां लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करने और उन्हें कमल या गुलाबी फूल अर्पित करने से सभी प्रकार की मनोकामना पूरी होती है।।।

श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं कमलवासिन्यै स्वाहा।

No comments:

Post a Comment