मुख्य आरोपी को छोड़कर अन्य लोगों को फंसा रही लांजी पुलिस: समरीते - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, January 4, 2022

मुख्य आरोपी को छोड़कर अन्य लोगों को फंसा रही लांजी पुलिस: समरीते




सतीश शेंडे हत्याकांड: पूर्व विधायक किशोर समरीते ने बिनोरा सरपंच पर लगाये हत्या में शामिल होने के आरोप


रेवांचल टाइम्स -  लांजी सतीश शेंडे हत्याकांड खुलासे मामले में पूर्व विधायक किशोर समरीते ने प्रेस वार्ता आयोजित कर बिनोरा सरपंच के हत्या में शामिल होने का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होने  कहा कि इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों के अलावा और भी आरोपियों की संख्या बढऩे की संभावना है। साथ ही उक्त मामले में पुलिस की जांच पर्याप्त नहीं है, सीबीआई द्वारा मामले की जांच करायी जानी चाहिए। उनका कहना है कि यह मामला कोई छोटा मोटा मामला नहीं है यह एक दलित आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या का गंभीर अपराध है जिसके कारण दलित समुदाय में काफी आक्रोश है। साथ ही इस मामले में छोडे गए दो लोगों के विषय मे पूर्व विधायक ने कहा कि पुलिस द्वारा 3 लोगों को 2 दिन तक थाने में बिठाकर पूछताछ की गई उसके बाद 2 लोगों को पुलिस द्वारा छोड दिया गया जिससे मामला संदिग्ध होता जा रहा है और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे है। तथा मामले में लेन-देने की बात भी चर्चा में है। उन्होने कहा कि उक्त मामले में क्षेत्र के कुछ बिचौलिये पत्रकार भी पुलिस के साथ मिलकर इस मामले को दबाने का कार्य किया जा रहा है जो उचित नहीं है। पत्रकार लोकतंत्र का चौथ स्तंभ होते है, यदि इनके द्वारा ही ऐसे कृत्य किये जाएंगे तो आम इंसान किससे न्याय की उम्मीद करेंगे। ऐसे में इन बिचौलिये पत्रकारों पर भी कार्यवाही होना चाहिए श्री समरीते ने कहा आरटीआई कार्यकर्ता सतीश शेंडे की हत्या में सभी आरोपियों को गिरफ़्तार नहीं किये जाने से सभी आरटीआई कार्यकर्ताओं मे पुलिस कार्यप्रणाली के खिलाफ आक्रोश है। 

क्या था मामला....

8 दिसंबर को लांजी- बालाघाट मुख्यमार्ग पर ग्राम दुलापुर स्थित हनुमान मंदिर के पीछे  सखाराम नारनौरे के खेत में एक अज्ञात नग्र अवस्था में शव पड़ा मिला था जिसकी उम्र लगभग 45 से 50 वर्ष थी, खेत मे शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी, वहीं खेत मे पडा शव वीभत्स अवस्था में पहुंच चुका था पुलिस को सूचना मिलने पर लांजी एसडीओपी दुर्गेश आर्मो, थाना प्रभारी शंकर सिंह चौहान सहित  पुलिस अमला मौका स्थल पर पंहुचकर कानूनी कार्यवाही पूर्ण की थी। 8 दिसंबर को शव की शिनाख्त नही हो पाई थी जो कि दुसरे दिन 9 दिसंबर को मृतक की किरनापुर थाना अन्तर्गत ग्राम बिनोरा निवासी सतीश शेन्डे के रूप मे हुई। पुलिस प्रथम दृष्टया ही समझ चुकी थी कि उक्त व्यक्ति सतीश शेन्डे की हत्या की गई है, जिसकी जांच 9 दिसंबर से लांजी पुलिस ने प्रारंभ कर दी थी। लांजी पुलिस के द्वारा उक्त अंधे हत्याकांड मामले में  6 लोगों को आरोपी बनाया है जिनमें 1. राजकुमार उर्फ राजू चौरे उम्र 52 वर्ष निवासी ग्राम बिनोरा, 2. रत्नदीप उर्फ मोंटू चौरे उम्र 26 वर्ष निवासी बिनोरा, 3. रोहित उर्फ चिंटू चौरे उम्र 20 वर्ष ग्राम बिनोरा, 4. अतुल नगपुरे पिता प्रेमलाल नगपुरे उम्र 20 वर्ष निवासी बिनोरा, 5. भारत भलावी पिता बलराम भलावी उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम उमरिया पोस्ट कान्हीवाडा जिला सिवनी, 6. सोहेल शेख उम्र 18 वर्ष निवासी लांजी को अपराध क्रमांक 427/21 धारा 302, 201 सहित अन्य धाराओ में हिरासत मे लेकर माननीय न्यायालय में पेश कर रिमाण्ड पर लिया गया है।


रेवांचल टाइम्स. लांजी बालाघाट से खेमराज सिंह बनाफरे

No comments:

Post a Comment