युवक के साथ धोखाधड़ी, वैक्सीन लगवाने के नाम पर करवा दी नसबंदी - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, January 2, 2022

युवक के साथ धोखाधड़ी, वैक्सीन लगवाने के नाम पर करवा दी नसबंदी





राजस्थान में उदयपुर के भूपालपुरा थाना क्षेत्र में अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। यहां के फतहपुरा (Fatehpura) इलाके में जननी सुरक्षा केंद्र (security Center) में कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) लगवाने के नाम पर एक युवक की नसबंदी (Vasectomy) कर दी गई। इस बात का पता चलने पर पीड़ित ने भूपालपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया है। मामले की जांच उपअधीक्षक को सौंपी गई है।भूपालपुरा थाना पुलिस (Bhupalpura Police Station) के मुताबिक उदयपुर (Udaipur) के प्रतापनगर क्षेत्र में स्थित गुरुद्वारा के पास रहने वाला कैलाश पुत्र (Kailash Putra) बाबूलाल गमेती मजदूरी करने घर से निकला था। बेकनी पुलिया पर वह काम के लिए इंतजार कर रहा था। तभी हिरणमगरी सेक्टर पांच निवासी नरेश चावत उसके पास आया और कैलाश को कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) लगवाने पर दो हजार रुपए देने का वादा कर स्कूटी पर साथ ले गया। आरोपी उसे फतहपुरा स्थित एक अस्पताल ले गया, जहां उसे इंजेक्शन (injection) लगाया, इससे वह बेहोश हो गया। जानकारी के मुताबिक यहां उसकी नसबंदी (Vasectomy) कर दी गई। ऑपरेशन के बाद आरोपी ने पीड़ित कैलाश को उसकी बहन की घर छोड़ दिया। दो हजार के बजाय उसे 1100 रुपए देकर फरार हो गया। पीड़ित कैलाश की मां की ओर से दर्ज रिपोर्ट में कहा गया है कि वह उसका इकलौता बेटा है, शादी हो चुकी है, लेकिन उसकी कोई संतान नहीं है। अब वो अपने पौत्र व पौत्री का मुंह कैसे देख पाएगी। इससे उसकी और मां की चिंताएं बढ़ गई है। पुलिस ने धोखाधड़ी व एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

No comments:

Post a Comment