इंदौर में ओमीक्रोन वैरियंट के नए स्ट्रेन BA.2 के कई मामले मिले, 6 बच्चे भी आए चपेट में - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Tuesday, January 25, 2022

इंदौर में ओमीक्रोन वैरियंट के नए स्ट्रेन BA.2 के कई मामले मिले, 6 बच्चे भी आए चपेट में



 रेवांचल टाईम्स:मध्य प्रदेश में केारोना के बढ़ते मामलों के बीच ओमिक्रान के नए सब वेरिएंट   BA.2 ने भी दस्तक दे दी है. इंदौर में इस नए सब वेरिएंट से प्रभावित मरीज मिले है. परेशानी की बात ये है कि इस नए सब वेरिएंट के पीड़ित मरीजों में बच्चे भी शामिल हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार ओमीक्रोन के सब वैरियंट के 21 नए मरीज मिले है, जिनमें 6 बच्चे हैं. इंदौर के श्री अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (SAMS) के फाउंडर और अध्यक्ष विनोद भंडारी ने समाचार एजेंसी को बताया कि केंद्र सरकार द्वापा मान्यता प्राप्त मॉलिक्यूलर वायरोलॉजी डायग्नोस्टिक एंड रिसर्च लैब में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वैरियंट के BA.2 नए स्ट्रेन के 21 मामले मिले हैं. ये मामले मिलने की शुरुआत छह जनवरी से हुई है.

उन्होंने बताया कि ओमीक्रोन स्वरूप के “BA.2” सब वैरियंट के 21 मामलों में से छह मरीजों के फेफड़ों पर एक प्रतिशत से लेकर 50 प्रतिशत तक असर देखने को मिला है. भंडारी ने बताया कि इन 21 मरीजों में से तीन अस्पताल में भर्ती हैं जबकि 18 अन्य को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. उन्होंने यह भी बताया कि इन 21 मरीजों में शामिल 15 वयस्क कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराकें पहले ही ले चुके थे. भंडारी ने कहा कि हम सभी पात्र लोगों से अपील करते हैं कि वे महामारी से बचाव के लिए टीके की एहतियाती खुराक जल्द से जल्द लें.
वैक्सीन लगवाने वाले सुरक्षित

अरबिंदो अस्पताल के रवि डोसी ने बताया कि इसको लेकर सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात यह है कि इन मरीजों को एडमिट करना पड़ रहा है और ऑक्सीजन लगाने की जरूरत भी पड़ रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वाले सुरक्षित हैं लेकिन लोगों द्वारा की जा रही लापरवाही मामलों को बढ़ा भी सकती है.
ढलान की तरफ कोरोना

इन सब के बीच राहत की खबर ये है कि कोरोना के मामलों में अब कमी देखी जा रही है. मंगलवार को 24 घंटों के भीतर कोरोना के कुल 2.55 लाख नए केस दर्ज किए गए हैं. कई दिनों के बाद ऐसा हुआ है, जब नए केसों की संख्या 3 लाख से कम आई है. यही नहीं रिकवर होने वाले लोगों की संख्या नए मामलों के मुकाबले अधिक है.
क्या है BA.2

कोरोना वायरस के वैरियंट ओमीक्रोन के अब तक तीन नए स्ट्रेन मिल चुके हैं. इन नए स्ट्रेन में BA.2 सबसे ज्यादा तेजी से फैल रहा है. यह शरीर में दाखिल होकर फेफड़ों पर हमला करता है और RT-PCR से भी बच सकता है.

No comments:

Post a Comment