आजादी के सात दशक बीतने के बाबजूद भी साईकिल तक ले जाने का रास्ता नहीं बना.... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

Monday, January 17, 2022

आजादी के सात दशक बीतने के बाबजूद भी साईकिल तक ले जाने का रास्ता नहीं बना....



रेवांचल टाईम्स - आदिवासी बाहुल्य जिला मंडला आज भी अनेक ग्राम ऐसे जो अपनी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। इन ग्रामो बसे निवासियों की आवश्कता जनप्रतिनिधियों के पांच साल में एक बार ही पड़ती है वह भी बोट डालने के वक्त बोटिंग हुई और दिए गए बचन किया वादा सब भूल जाते है फिर आप कौन आपकी समस्याएं क्या है उन्हें कोई मतलब नही वह जितने के बाद आम से माननीय हो जाते है फिर उनसे मिलने के लिये आपको उनके पी ए से अनुमति लेकर उनसे मिलना पड़ता है और फिर आप कौन कौन गाँव से आए।

            वही जानकारी के अनुसार आज भी नारायणगंज विकास खण्ड से 30 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत पिंडरई माल से 3, 4 किलो मीटर बर्रा टोला  रैयत माल साईकिल ले जाने तक नहीं है सड़क मार्ग   गांव वालो का कहना हैं ये जो सड़क हे हमारा प्रतिदिन का रास्ता है हम शाम सुबह जाते है और सड़क निर्माण कार्य के लिए हमने पंचायत से लेकर जनपद और जिला तक  अपनी बात आवेदन के माध्यम रखा है लेकिन अभी तक कोई भी सुनवाई नहीं हो रही हैं। इसी बीच जयस ब्लॉक अध्यक्ष झामसिंह तेकाम ने बताया कि जो सड़क हे इससे लोग रोज पिंडरई माल में जाते हैं क्योंकि उचित मूल्य की दुकान राशन या फिर किसी अन्य वस्तु खरीदने के लिए भी जाना पड़ता हैं एवं बच्चे पढ़ने के लिए भी इसी रास्ते से जाते हैं और बरसात के समय में बच्चे बाढ़ आ जाने के कारण 10से15 दिन तक स्कूल नहीं जा पाते ग्रामीण का कहना हैं कि पूर्व प्रति निधि विधायक से लेकर वर्तमान प्रति निधि विधायक को भी आवेदन पत्र दिया
गया है पर अभी तक शासन प्रशासन की अनदेखी का समना बच्चे एवं ग्राम जन परेशान।

No comments:

Post a Comment