घर में पूजा-पाठ के दौरान जरूर रखे इन 5 बातों का ध्यान - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, December 18, 2021

घर में पूजा-पाठ के दौरान जरूर रखे इन 5 बातों का ध्यान



हिन्दू धर्म में पूजा-पाठ को विशेष स्थान दिया गया है. प्रतिदिन की दिनचर्या में पूजा पाठ की खास अहमियत भी है, तकरीबन हर किसी के घर में अलग पूजा स्थान जरुरी होता है. इस पूजा के स्ठान पर सभी ध्यान केंद्रित करके शांति से अपने ईश्वर की पूजा-अर्चना करते हैं. श्रद्धालु अपने भगवान को खुश करने के लिए अनेक तरीकों से पूजा पाठ करते हैं. मगर अक्सर ऐसा भी होता है कि प्रतिदिन पूजा-पाठ करने के पश्चात् भी आपका मन अशांत रहता है, या फिर पूजा के समय ही मन इधर उधर भटकता है. तो स्पष्ट है कि कहीं आप कोई गलती कर रहे हैं. वही इससे ये भी है कि आप जो पूजा कर रहे हैं उसका उचित फल नहीं प्राप्त हो रहा तो इसका अर्थ है कि आप से पूजा के चलते कुछ गलतियां हो रही हैं. ऐसे में प्रतिदिन पूजा करना जितना आवश्यक है, उतना ही पूजा-पाठ के सामान्य कुछ विशेष नियमों का पालन करना भी जरुरी होता, नाही तो आपको नुकसान हो सकता है.

पूजा-पाठ के दौरान 5 बातों का रखें ध्यान:-
आप ईश्वर की पूजा में जो भी करें वो मन को कम ही लगता है. यही वजह है कि हर देवी-देवता की आराधना के चलते मंत्रोच्चार, आरती तथा पूजा का तरीका अलग-अलग हो सकता है. भले आप किसी भी ईश्वर की आराधना कर रहे हों, मगर इन सबमें हमेशा एक समान बता रहती हैं तथा जिनको ध्यान में रखकर ही पूजा करनी चाहिए-

1- दिशा का रखें ध्यान:-
आपके घर का मंदिर या फिर पूजा की जगह हमेशा ही ईशान कोण मतलब उत्तर पूर्व दिशा में ही होना चाहिए. यह दिशा ईश्वर के मंदिर के लिए सबसे शुभ मानी जाती है. किन्तु यदि आपके घर में पूजा स्थल दक्षिण पश्चिम दिशा है तो पूजा का फल कम प्राप्त होगा.

2- ऐसे ना करें पीठ:-
जब भी आप पूजा कर रहे हों, तो ध्यान में रखें कि आपका मुंह पश्चिम दिशा की तरफ हो तथा मंदिर या ईश्वर का मुख पूर्व दिशा की तरफ ही हो. इतना ही नहीं देवी-देवताओं की प्रतिमा के समक्ष कभी भी पीठ करके नहीं बैठना चाहिए.

3- आसन का इस्तेमाल:-
अक्सर लोग जमीन पर बैठकर ही पूजा आरम्भ कर देते हैं. मगर ठीक तरीका नहीं होता है, क्योंकि पूजा के वक़्त आसन का इस्तेमाल करना आवश्यक है. ऐसी मान्यता है कि बिना आसन पर बैठे पूजा-पाठ करने से दरिद्रता आती है. इसलिए पूजा के चलते साफ-सुथरे आसन का उपयोग अवश्य करें.

4- मंदिर में जलाएं दिया:-
घर में अगर मंदिर हो या पूजा का कोई भी जगह हो तो वहां पर प्रातः शाम एक दीपक जरूर जलाएं. घर में दिया जलाने से ईश्वर की कृपा बनी रहती है.

No comments:

Post a Comment