MP के इन 5 शहरों में खुलेंगे ड्रोन स्कूल, केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने की घोषणा - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Saturday, December 11, 2021

MP के इन 5 शहरों में खुलेंगे ड्रोन स्कूल, केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने की घोषणा



जबलपुर. नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में 5 ड्रोन स्कूल खोले जाएंगे. ये स्कूल इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर और सतना में खुलेंगे. ये स्कूल नागरिक उड्डयन मंत्रालय संचालित करेगा. स्कूल में ड्रोन उड़ाने की ट्रेनिंग दी जाएगी. उनकी इस घोषणा पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सिंधिया ने प्रदेश को 5 ड्रोन स्कूल दिए, इसके लिए उनका आभार. हम संकल्प लेते है कि एमपी को ड्रोन टेक्नोलॉजी में अग्रणी बनाएंगे.

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शनिवार को ग्वालियर में आयोजित प्रदेश के पहले ड्रोन मेले को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि ड्रोन टेक्नोलॉजी आने वाले वक्त की सबसे बड़ी जरूरत बनेगी. ड्रोन के जरिए स्वास्थ्य सेवाओं, कृषि क्षेत्र, सुरक्षा सहित कई क्षेत्रों में मदद मिलेगी. इनके संचालन की परेशानियां कम करने के लिए मंत्रालय ने नियमों में सरलता की है. युवाओं के लिए ड्रोन उड़ाने की ट्रेंनिग, लायसेंस की प्रक्रिया आसान की गई हैं. उन्होंने कहा शिवराज सरकार ने प्रदेश में ड्रोन टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग करने का काम किया है.

ड्रोन टेक्नोलॉजी एक नई क्रांति है- सीएम

गौरतलब है कि प्रदेश के पहले ड्रोन मेले का शुभारंभ प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया. उन्होंने कहा कि ड्रोन टेक्नोलॉजी एक नई क्रांति है. खेती में पेस्टिसाइट्स का छिड़काव करना हो, खाद डालना हो, सुदूर स्थानों पर दवाइयां भेजना हो तो ड्रोन काम करेगा. विकास के काम हों, प्राकृतिक आपदा में लोगों की सहायता करना हो या ट्रैफिक कंट्रोल करना हो, सभी में ड्रोन टेक्नोलॉजी सचमुच में वरदान है. आज हमने देखा कि इस टेक्नोलॉजी का कई क्षेत्रों में उपयोग किया जा सकता है. प्रधानमंत्री जी का संकल्प है कि इस टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग हो. ज्योतिरादित्य सिंधिया इस मिशन को पूरा करने में पूरी क्षमता से जुटे हैं.

No comments:

Post a Comment