इस पूजा से सुख-समृद्धि और स्वास्थ्य का वरदान देते है भगवान सूर्य - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, December 12, 2021

इस पूजा से सुख-समृद्धि और स्वास्थ्य का वरदान देते है भगवान सूर्य




रेवांचल टाईम्स: प्रत्यक्ष देवता भगवान सूर्य को संसार का प्राण बताया गया है. रोजाना साक्षात दर्शन देने वाले भगवान सूर्य की वजह से ही पृथ्वी पर जिंदगी है. जिस सूर्य की साधना को सनातन पंरपरा में बहुत जरुरी मानते हुए पुण्यदायी माना गया है, उसी सूर्य की किरणों से प्राप्त होने वाले लाभ को विज्ञान ने भी जरुरी माना है, क्योंकि सूर्य हमें स्वस्थ रखते हुए हमारे सौंदर्य को भी बढ़ता है. संसार की आत्मा माने जाने वाले भगवान सूर्य का आशीर्वाद पाने के लिए रविवार का दिन बहुत उत्तम माना गया है. आइए आज सूर्यदेव की कृपा पाने का आसान एवं सुलभ उपाय तथा उससे होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से जानते हैं.

* रोजाना सूर्योदय से पूर्व ही शैया त्यागकर शौच-स्नान करना चाहिए.
* सूर्य की भक्ति करने के लिए सूर्योदय से पहले उठने की कोशिश करें तथा शौच आदि से निवृत्त होकर सबसे पहले सूर्यदेव को अर्घ्य देकर तीन बार प्रणाम करें.
* सूर्य के भक्त को रोजाना उनके शतनाम तथा स्तोत्र अथवा सहस्त्रनाम का श्रद्धा पूर्वक पाठ करना चाहिए और उनके मंत्र का जाप करना चाहिए.
* सूर्य के भक्त को रोजाना आदित्यहृदय स्तोत्र का पाठ जरूर करना चाहिए. इसका पाठ करने से भगवान सूर्यदेव की कृपा जल्द ही प्राप्त होती है.
* सूर्य के भक्त को सूर्यदेव की खास कृपा पाने के लिए रविवार के दिन विधि-विधान से व्रत रखना चाहिए तथा रविवार के दिन तेल, नमक आदि नहीं खाना चाहिए.
* सूर्य के भक्त को रविवार का व्रत करते हुए ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए.
* सूर्यदेव की कृपा पाने के लिए रोजाना श्रीखंड, चंदन अथवा रक्त चंदन का तिलक लगाएं.
* अगर आपकी कुंडली में सूर्य अशुभ फल दे रहा है तो आप उसकी शुभता को पाने के लिए अपने गले तांबे का सिक्का धारण करें. तांबे के सिक्के को लाल धागे में ही धारण करें.
* ज्योतिष में सूर्य से संबंधित अशुभता को दूर एवं शुभता को प्राप्त करने के लिए रविवार के दिन गेहू, तांबा, घी, स्वर्ण एवं गुड़ के दान का उपाय बताया गया है.
* अगर आप चाहते हैं कि आपकी आंखें हमेशा ठीक रहें या फिर आंखों से संबंधित किसी बीमारी जल्द ही दूर हो तो उसके लिए अपनी आंखों का उपचार कराते हुए सूर्य की साधना भी रोजाना करें. नेत्ररोग से बचने एवं उसकी रक्षा के लिए रोजाना नेत्रोपनिषद का श्रद्धापूर्वक पाठ करना चाहिए.

No comments:

Post a Comment