मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ नवोदय के पूर्व छात्र का हुआ मिलन समारोह कान्हा मंडला में.... नवोदयन नाइट्स एट कान्हा थीम से सजा ये महफ़िल... - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Monday, November 1, 2021

मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ नवोदय के पूर्व छात्र का हुआ मिलन समारोह कान्हा मंडला में.... नवोदयन नाइट्स एट कान्हा थीम से सजा ये महफ़िल...

 



रेवांचल टाईम्स - देश की सर्वोच्च शिक्षण संस्थान में से एक जवाहर नवोदय विद्यालय अपने शैक्षणिक और अन्य गतिविधियों से अलग पहचान बनाए हुए है, हर शिक्षित और ग्रामीण क्षेत्र इस संस्थान में अपने बच्चो की भूमिका देखना चाहते हैं अर्थात वे मानते हैं कि इस संस्थान में उनके बच्चो का सिलेक्शन जरुर हो यही कारण से प्राथमिक स्तर से ही इसकी तैयारी जोरों से शुरू कर दी जाती है ।

आज जहां 15000 से अधिक फॉर्म आने लगे हैं तो वही कम्पटीशन का दायरा भी बहुत बढ़ गया है।

समाज और देश मे इसकी पहचान अलग दिखाई देती है। देश ही नही अपितु विदेश में भी इस संस्थान के पूर्व छात्र अपनी बेहतरी से नई मिशाल बनाये हुए हैं।।।।

ज्ञात हो विगत दिनों अपनी पुरानी यादों को ताजा करने के लिए मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के करीब 15 नवोदय विद्यालय के पूर्व छात्रों का मिलन समारोह कान्हा नेशनल पार्क में आयोजित किया गया था जिसमें करीब 75 से ज्यादा पूर्व छात्र अपनी  फैमिली के साथ शामिल हुए और अपने गुजरे कल के याद कर भावुक भी हुए तो पारिवारिक रिस्तो में होती थकान और कोविड की सहम से अपने को मुक्त करने के लिए इस पल आनंद उठाया।।।

जिसमें कई अधिकारी, कर्मचारी, व्यवसायी, और वर्तमान शिक्षण से जुड़े लोगों ने हिस्सा लिया रश्मि मेरावी (क़तर अरेबियन कंट्री) ने भी इस बेहद मनोरंजक एवम यादगार लम्हे के लिए परिवार के साथ शामिल होकर इस कार्यक्रम की खूबसूरती को बढ़ाया और जमकर खुशियां बांटी।। वही कई कार्यक्रम भी आयोजित किये गए जिसमें बच्चो के लिए पेंटिंग जिसमें टाइगर के जीवन पर थीम देकर बच्चो को वन्य जीवन से जोड़ने का प्रयास किया गया तो वही टूरिज्म को बढ़ावा देने का भी प्रयास  किया।

यादों को सिमिटे सांस्कृतिक कार्यक्रम का संचालन नवोदय विद्यालय बालाघाट में पदस्थ शिक्षक मोहम्मद अयाज़ अन्सारी (राष्ट्रीय संघटन सचिव नवोदय कर्मचारी संघ ) और श्री मनीष बंसल बैंक मैनेजर द्वारा किया गया, कला, नृत्य, गीत से भरे महफ़िल को डॉक्टर हेमंत मंडाले प्रोफेसर,नितिन भालेकर डी एम ओ, हेमन्त नायक संगीत शिक्षक नवोदय विद्यालय राजेश वर्मा, सम्यक बौद्ध,साहित्य,   संजीव मुकासी और अन्य कई साथियों के द्वारा बेहतरीन प्रस्तुति दिया गया तो वही अर्पण कटकवार ने कपल डांस मेरी आशिकी तुम हो पर बखूबी निभा औरों को भी मंच तक ले आये डॉक्टर हेमंत मंडाले ने भी कपल डांस चालीस के पार बेहतरीन प्रस्तुति दिया तो वही श्रीमति निशा उइके,प्रियंका कोरचे,अफ़साना खान, और बच्चो ने भी मंच पर बेहतर प्रस्तुति देते हुए अपनी चमक बिखेरते नजर आए।

क्षेत्रीय कला जिसमें लोक नृत्य बैगा डांस को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था का लुफ्त उठाये और सामूहिक डांस कर जीवन भर के लिए यादों में समेट लिए ।

यूपीएससी परीक्षा 2020 में चयनित नवोदय विद्यालय बालाघाट के छात्र विनीत बंसोड़ को नवोदय परिवार ने सम्मानित किया ।

वही कोरोना के पल को भी याद करते हुए संवेदना व्यक्त कर मौन धारण किया गया और सभी डॉक्टर और मेडिकल टीम से जुड़े लोगों को कोरोना वोर्रिर्स के रूप में सम्मानित किया गया।

अंत मे सभी मीठी यादों के को समेटे इस पंक्ति के साथ सभी वापस हो चले..

मेरी आँखों से गुजरी जो

बीते लम्हों की परछाईं,

न फिर रोके रुकी ये आँखें

झट से पानी भर आयीं।


पल जो गुजरा कुछ वक्त यूँ पहले

खुशी से भर आयी ये दुनिया मेरी

हसीन था वो लम्हा जब

हर बच्चा मस्ती में मशगूल रहा

मैं भीगा आँसू की कतार से 

लगा जिसमें

वो सावन की खुशयाली

भर आई 

जब बिछड़ रहे थे हम

नम थी आंखें 

 ये आंखों में 

झट से फिर पानी भर आयीं।।।।

याद याद याद बस याद

नवोदय की जिस्म के हर कोने में बस आई ।

इस कार्यक्रम के संचालन के लिए विशेष रूप से रोहित बंसोड़, गजेंद्र मेरावी, अज़ीम शाह, पीयूष तरुनकर,  जिन्होंने तकनीति रूप से सहयोग किया तो वही सांस्कृतिक कार्यक्रम में साहित्य, पोएम भारती, सुजीत, ऋतुराज, नितिन भालेकर आदि ने बखूबी जिम्मेदारी निभाई तो वही दूर दराज से आये लोगो को अमोल मिश्रा का बहुत सहयोग मिला जिसने सभी लोगो को आर्डिनेट किया ।

कार्यक्रम को संचालित कराने के लिए रवि आरमो (शिक्षक बालाघाट नवोदय ). तारिक़ खान, जिज्ञाषा ठाकुर, मीना, स्मृति आदि लोगो का मनोरंजन और खेल फनगेम आदि में महत्वपूर्ण भूमिका रही ।

       जिंदगी जीने का बेहतर प्रयास कर समाज मे नई दिशा के लिये इनका यह प्रयास अतुलनीय है जहां परिवार को फुल टाइम और नए रिस्तो को मजबूती दिलाना।

No comments:

Post a Comment