कोदो कुटकी तिहार कार्यक्रम का हुआ समापन स्थानीय व्यंजनों की रही धूम, विभिन्न उत्पादों की हुई अच्छी बिक्री - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Sunday, October 17, 2021

कोदो कुटकी तिहार कार्यक्रम का हुआ समापन स्थानीय व्यंजनों की रही धूम, विभिन्न उत्पादों की हुई अच्छी बिक्री

मण्डला 17 अक्टूबर 2021








10 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक मोचा के पंचायत भवन परिसर में एक जिला, एक उत्पादके तहत् मंडला जिले से चयनित कोदो-कुटकी के उत्पाद एवं गौंड़ी पेंटिंग कला के प्रदर्शन एवं अलग-अलग विभागों के स्टॉल लगाये गये। तिहार में विभिन्न विभागों के जैसे- कृषि, रेशम, उद्यानिकी एवं आजीविका विभाग के अलग-अलग उत्पादों का भी प्रदर्शन किया गया। कोदो कुटकी तिहारके समापन समारोह के अवसर पर कलेक्टर हर्षिका सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष सरस्वती मरावी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष शैलेष मिश्रा, जिला पंचायत सीईओ सुनील दुबे एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी, लोक कलाकार तथा कोदो कुटकी तिहार में शामिल हुए लोग उपस्थित रहे। समापन कार्यक्रम में कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि एक जिला एक उत्पादके तहत् कोदो-कुटकी एवं विभिन्न विभागों के उत्पादों का तिहार के माध्यम से प्रदर्शन किया गया। जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय उत्पादों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसका सभी विभागों के समन्वय, जिलेवासियों, मीडिया तथा पर्यटकों के माध्यम से अच्छा प्रतिसाद मिला है। आगामी दिनों में भी स्थानीय उत्पादों को प्रोत्साहित करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

जिला पंचायत अध्यक्ष सरस्वती मरावी ने आदिवासी जिले के व्यंजनों, उत्पादों एवं कलाओं से लोगों को परिचित कराने के लिए हुए इस आयोजन के लिए जिला प्रशासन की सराहना की एवं बधाई दी। जिला पंचायत उपाध्यक्ष शैलेष मिश्रा ने कहा कि एक जिला एक उत्पादकार्यक्रम के तहत् आयोजित कोदो-कुटकी तिहार का समापन नहीं बल्कि आगाज हो रहा है। आगामी दिनों में भी जिला प्रशासन के सहयोग से इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिससे मंडला जिले की आदिवासी संस्कृति सहित अन्य उत्पादों का भी व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार हो सके। जिला पंचायत सीईओ सुनील दुबे ने एक जिला एक उत्पादके तहत् विभिन्न विभागों के अधिकारियों, लोक कलाकारों, गाईड एसोशिएसन तथा होटल एसोसिएशन के सहयोग के लिए सभी को धन्यवाद दिया।

 

उत्पादों से लगभग् 1 लाख से अधिक की आय

 

कलेक्टर हर्षिका सिंह एवं अतिथियों द्वारा कोदो-कुटकी तिहार के दौरान अपने उत्पादों का व्यापक प्रचार-प्रसार एवं अच्छी बिक्री करने के लिए आजीविका मिशन के दीदी केफे, रेशम विभाग, कृषि, वन विभाग, उद्यानिकी विभाग के माध्यम से उत्पादों की बिक्री के लिए उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कोदो कुटकी तिहार में दीदी केफे के माध्यम से मंडला जिले के स्थानीय व्यंजनों के उत्पाद पर आधारित मंडला थालीपर्यटकों की विशेष पसंद रही है। आजीविका मिशन के विभिन्न उत्पादों से लगभग् 10 हजार रूपए की राशि की आय हुई। इसी प्रकार दीदी केफे से लगभग् 30 हजार रूपए की आय हुई। ग्राम दुकान में लगभग् 11 हजार 500 रूपए के उत्पादों की बिक्री हुई। कोदो-कुटकी तिहार के नोडल अधिकारी जिला पंचायत सीईओ सुनील दुबे ने बताया कि 17 अक्टूबर की दोपहर तक विभिन्न विभागों के स्टॉल्स के माध्यम से लगभग एक लाख रूपए से अधिक के उत्पादों की बिक्री की गई। इसी प्रकार प्रवेश शुल्क के माध्यम से लगभग् 20 हजार रूपए की आय हुई।

 

कोदो-कुटकी तिहार के पुनः आयोजन का आग्रह

 

समापन समारोह के अवसर पर कान्हा क्षेत्र के गाईड एवं होटल एसोसिएशन के सदस्यों ने कलेक्टर हर्षिका सिंह से कोदो-कुटकी तिहार जैसे स्थानीय उत्पादों एवं व्यंजनों पर आधारित कार्यक्रमों को दीवाली, क्रिसमस अवकाश तथा नववर्ष के दौरान आयोजित करने का विशेष आग्रह किया है। कलेक्टर ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय उत्पादों, व्यंजनों एवं कलाओं के प्रदर्शन के लिए कोदो-कुटकी तिहार जैसे कार्यक्रम विशेष अवसरों पर आयोजित किए जाते रहेंगे।

No comments:

Post a Comment