वन विभाग में कई गई अनिमित्ताओ को कलेक्टर से की लिखित शिकायत कर रेंजर के विरुद्ध जांच कराने की मांग - revanchal times new

revanchal times new

निष्पक्ष एवं सत्य का प्रवर्तक

Breaking

रेवांचल टाइम्स अखबार पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406771592 पर व्हाट्सएप्प करें

 आवश्कता है  आवश्कता है ....

रेवांचल टाईम्स समाचार पत्र एव वेव पोर्टल में मध्यप्रदेश के सभी संभाग, जिला, तहसील, विकास खंडों, में संवाददाताओं की एंव विज्ञापनों व खबरों से सबंधित व्यक्ति संपर्क करें इन नम्बरों में 👉 9406771592/ 9425117297/ 8770297430/9165745947

Wednesday, October 13, 2021

वन विभाग में कई गई अनिमित्ताओ को कलेक्टर से की लिखित शिकायत कर रेंजर के विरुद्ध जांच कराने की मांग


रेवांचल टाइम्स -  वन विभाग में अपने जंगल के अंदर की गई अनिमित्ताओ के लेकर जागरूक पत्रकार खेमराज वनाफारे ने खबर के साथ साथ लिखित में शिकायतें करते हुए रेंजर की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को लिखित में आवेदन के माध्यम से अवगत कराया साथ ही इनकी कार्यकाल की जाँच की माग की है।  

            जानकारी के अनुसार लांजी पूर्व वन मंडल परी क्षेत्र अंतर्गत ग्राम नंदोरा एवं देवरीबेली के जंगल में रेंजर अहिरवार के द्वारा अपने पद का दुरूपयोग कर शासकीय योजनाओं में भ्रष्टाचार किया गया है। 

        अपने एक कहावत तो सुनी होगी कि जंगल मे मोर नाचा पर देखा कौन इसी प्रकार से इनके द्वारा जो कार्य कराए गए है अधिकतर कार्य मे अनिमित्ताये की गई है।

        वतर्मान वृक्षारोपण करने हेतु फैंसिंग कार्य में भारी अनियमितता बरती गई है जिसकी लिखित शिकायत जागरूक पत्रकार खेमराज सिंह बनाफरे के द्वारा कलेक्टर को लिखित शिकायत की गई जिसमें इनके कार्यकाल की जांच की मांग की गई है।

       बता दें कि ग्राम नंदोरा एवं  देवरबेली के जंगल कंपाटर्मेंट क्रमांक 256/ A,B, में वृक्षारोपण हेतु फेंसिंग कार्य में रेंजर अहिरवार के द्वारा नियम को ताक में रखते हुए और निजी लाभ लेते हुए सीमेंट के पोल न लगाते हुए सागौन के पेड़ में ही खीले ठोक कर फेंसिंग कार्य करवाए गए हैं जिसके  कारण अधिकतर सागौन के पेड़ सूखने की कगार में है और कुछ तो सूख भी रहे है। वहीसूत्र बताते हैं कि जब भी वृक्षारोपण हेतु फेंसिंग कार्य करवाए जाते हैं उसमें फेंसिंग


पोल आवश्यक है ना कि जंगलों में लगे पेड़ों पर खिले ठोक कर कार्य करवाया जाता है इसी संबंध में कलेक्टर महोदय को लिखित शिकायत कर उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की गई है।


रेवांचल टाइम्स लांजी, बालाघाट से खेमराज सिंह बनाफरे

No comments:

Post a Comment